नशा बन रहा रेप का कारण : रावत

सतना।

प्रदेश में दुष्कर्म के मामले दिनों दिन बढ़ते ही जा रहे है। अभी मंदसौर की घटना को हुए हफ्ताभर भी नही हुआ कि अब एक मामला सामने आया है।  इस बीच सतना में 4 साल की मासूम से दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। यहां जिले के उचेहरा थाना क्षेत्र के पन्ना गांव में नशे में धुत महेन्द्र सिंह गौड़ नामक शख्स पड़ोस में रहने वाले एक मासूम को उसके घर से उठाकर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म कर उसे  जंगल में फेंककर भाग गया। बच्ची को गंभीर हालत में जबलपुर रेफर किया गया है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस घटना ने लोगों को एक बार फिर झकझोर के रख दिया है। घटना के बाद से ही लोगों में भारी आक्रोश है।वे लगातार आरोपियों की फांसी की मांग कर रहे है।

वही इस तरह की घटनाओं को लेकर सियासत शुरु हो गई है। पार्टियां एक दुसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने में जुटी हुई है। कांग्रेस ने इन घटनाओं को लेकर प्रदेश की शिवराज सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। साथ ही उन्होंने प्रदेश में धड़ल्ले से बिक रही शराब और नशे की वस्तुओं पर भी आपत्ति जाहिर की है। कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता राम निवास रावत ने ट्वीटर के माध्यम से सरकार पर सवाल खड़े किए है और इस तरह की घटनाओं को शर्मनाक बताया है।साथ ही शिवराज सरकार से नशे को बंद करवाने की मांग की है।

रावत ने ट्वीटर के माध्यम से सरकार पर हमला बोला है। रावत ने ट्वीट कर लिखा है कि सतना जिले मे 4 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म ह्रदयविदारक ,वीभत्स विचलितकरने वाला है शिवराजसिंह जी यदि आप इस घटना से विचलित हो तो प्रदेश के गाँव गावँ मैं सरकार के संरक्षण मैं  समाज को परोसने बाले नशे को बंद करवाओ । नहीं तो इन घटनाओं के लिये अप्रत्यक्ष रूप से आप भी जिम्मेदार हो।


अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि ग्वालियर 6साल की बच्ची। मंदसौर 7 साल की बच्ची ,सतना 4 साल की बच्ची से दुष्कर्म की घटनाओं से पूरा जान मानस मैं स्तब्ध हूँ ,घटना सभी नशे की स्थिति मैं । क्या शिवराज  गाँव गाँव विकने वाली शराब ,अफीम,चरस,स्मेक,नशे की दवाएं ,आदि को बंद करवाओगे आप भी इन घटनाओं के लिये जिम्मेदार हो।


आखिरी ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि ग्वालियर में 6 साल ,मंदसौर में 7 साल ,सतना में 4 साल की बच्चीयो से दुष्कर्म के आरोपी दरिन्दों को फांसी की सजा मिले व सुप्रीमकोर्ट से अनुरोध जान भावनाओं  की मांग पर कानून मानकर सार्वजनिक स्थान पर फांसी पर लटकाया जाये।


"To get the latest news update download tha app"