24 गांव के अन्नदाताओं ने प्रधानमंत्री से मांगी इच्छामृत्यु

सीहोर ।

सीएम के गृह जिले सीहोर से 65 किमी दूर अरनिया गाजी गांव कान्याखेडी, दूधिया परियोजना को बनने और स्वीकृत करवाने के लिए सैकडों किसानों ने 24 गांवों में इच्छामुत्यु के आवेदन प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के नाम भरवाए गए है ।अब यह आवेदनों की रजिस्ट्ररी प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी को भेजी जाएगी।

दरअसल, आष्टा विधानसभा के किसान 20 साल से कान्याखेडी डेम की मांग को लेकर कई बार प्रशासन से लेकर शिवराजसिहं चौहान मुख्यमंत्री और प्रभारी मंत्री रामपालसिहं गुहार लगा चुके है। लेकिन हर बार कोरे आश्वासन देकर बात को टाल दिया जाता था।मांग पूरी ना होने और सरकार की इस तरह की बेरुखी से  डेम को लेकर किसानों मे सरकार के खिलाफ आक्रोश है।

दरअसल,  यह गांव सालों से सूखे से त्रस्त है। हालात ये है कि गांवभर में  पीने और सिंचाई के लिए पानी नही है। ग्रामीण महिला कोसो दूर से पीने का पानी लाती है और अपना गुजारा करते है ।इसी के चलते  कल्याणपुरा, कान्याखेडी, बैजानाथ, खामखेडा, नेमजाखेडी, बडौदिया, अवतीपुर पलासी दिगलाखेडी,  मुरावार देवनखेडी , मुडला करमनखेडी, कुरावर ,हाजीपुर गउखेडी, हरनाउदा भावरी के किसान परेशान है और सरकार से इच्छमुत्यु की मांग कर रहे है।

गांव के किसानों का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के समय 24लाख का सर्वे हुआ था। फिर उमा भारती के मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री का पद संभाला था।लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज के पद संभालने के बाद से आज तक कान्याखेड़ी डैम को लेकर किसानों और ग्रामीणों द्वारा लगातार प्रयास किए गए लेकिन सरकार ने कभी इस ओर ध्यान नही दिया।

गौरतलब है कि बीते दिनों किसानों ने हाजीपुर गांव से पदयात्रा करके भोपाल सीएम हाऊस का घेराव करने की रणनीति बनाई थी लेकिन प्रभारी मंत्री रामपाल सिंह और प्रशासन के अधिकारियों को इसकी भनक लगते ही वे सीधा किसानों से मिलने गांव पहुंच गए और आश्वासन दिया कि 1 माह के अंदर कान्याखेड़ी डेम स्वीकृत होकर काम शुरू हो जाएगा। लेकिन अब इस बात को दो माह से ज्यादा हो गए, ना तो अभी तक प्रशासन का कोई आदमी आया है और ना काम शुरु किया गया है।जिसको लेकर किसानो में सरकार के प्रति भारी आक्रोश है।इसलिए किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिख इच्छा मृत्यु मांगी है। उन्होंने पीएम को लिखे पत्र में लिखा है कि या तो हमें  इच्छामृत्यु दे दीजिए या डेम बना दीजिए ।

"To get the latest news update download tha app"