चुनाव से पहले शिवराज पुत्र राजनीति में सक्रिय, कांग्रेस नेताओं को बताया राजनैतिक मेंढक

सीहोर।

मैं नेता हूं, ना मार्गदर्शी और ना ही मैं कोई चुनाव लडऩे जा रहा हूं तो सवाल यह उठता है कि कार्तिकेय चौहान का क्या अस्तित्व है क्या मेरी यही पहचान है कि मैं एक मुख्यमंत्री का पुत्र हूं। आज मैं आपको बताता हूं कि मैं कौन मैं स्वतंत्र भारत का एक युवा हूं। मैं वह युवा हूं जो अपने से पहले देश को रखता है और यही चाहता है कि उसका देश पूरी दुनिया में सर्वप्रथम हो। बचपन से मैंने यही सीखा है कि अंधेरा कितना भी घना हो वह रोशनी को दबा नही सकता। जनसेवा करना मेरे जीवन का लक्ष्य है। यह बात सोमवार को स्थानीय रविन्द्र सांस्कृतिक भवन में आयोजित भारतीय युवा मोर्चा की संकल्प यात्रा में शामिल सीएम पुत्र कार्तिकेय सिंह चौहान ने कही।

       उन्होंने कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा कि मुझे बचपन से यही सिखाया गया है कि राजनीति के माध्यम से जनसेवा व्यापक स्तर तक पहुंच सकती है। देश की राजनीति का स्वरूप देखता हूं तो मुझे पीड़ा होती है देश की राजनीति आज झूठ  में बदलती जा रही है।  कुछ राजनीतिक पार्टियां जनता को भ्रम के जाल में फंसाने का काम कर रही है। देशभर में विकास विरोधी पार्टियां आज एकजुट हो रही है। वो लोग जो एक दूसरे को आंखभर नहीं देखते थे आज वह कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे है। यह किस चीज के लिए एक हो रहे है देश के विकास के लिए तो उनका स्वागत है, लेकिन एकजुट होने वाले यह सुन लो एकजुट होने का तुम्हारा लक्ष्य यदि झूठ बोलना, भ्रम फैलाना है तो कार्तिकेय चौहान और भाजपा के कार्यकर्ता तुम्हें कभी सफल नहीं होने देंगे। आज हम देखते है कि कांग्रेस के नेता आज प्रदेश में अचानक कैसे सक्रिय हो गए हैं। मैंने देखा है कि पांच सालो में  यह राजनीतिक मेढ़को की तरह उछलने लग जाते हैं। 50 से 55 साल कांग्रेस पार्टी सत्ता में रही यदि पहले यह सक्रिय होते तो आज प्रदेश कहां से कहां हो जाता, लेकिन विकास इन्हें नहीं करना यह हमैशा झूठ बोलते रहे

"To get the latest news update download tha app"