Breaking News
अब मंत्री-परिषद के सदस्य उतरेंगें सड़कों पर, जनता को समझाएंगे 'सड़क सुरक्षा' के नियम | 28 सितंबर को फिर भारत बंद का ऐलान, इसके पीछे ये है वजह | 12वीं पास के लिए सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, जल्द करें अप्लाई | शर्मनाक : युवक की हत्या के शक में महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया, पथराव-आगजनी, 8 पुलिसकर्मी सस्पेंड | शिवराज कैबिनेट की बैठक खत्म, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | मॉर्निंग वॉक के दौरान EOW इंस्पेक्टर की मौत, हार्ट अटैक की आशंका | अखिलेश की नजर अब मप्र पर, 3 सितंबर को आएंगें इंदौर | अटल जी के निधन पर पूरे देश में शोक और भाजपा नेता निकाल रहे डीजे यात्रा : कांग्रेस | VIDEO : मोबाईल टॉवर पर चढ़ा शराबी, मचा रहा हंगामा, नीचे उतारने में जुटी पुलिस | चुनावी साल में शिवराज सरकार का मास्टर स्ट्रोक, कुपोषण मिटाने खर्च करेगी 57 हजार करोड़ |

VIDEO : मुख्यमंत्री के सभास्थल पर भरा पानी, मौके पर पहुंचे अधिकारी

सीहोर।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज महत्वाकांक्षी माइक्रो सिंचाई योजना का भूमि-पूजन करने तहसील मुख्यालय आष्टा में किसान समागम करने वाले है।वे यहां ''नर्मदा-मालवा लिंक संकल्प'' के महत्वपूर्ण चरण के रूप में नर्मदा-पार्वती लिंक परियोजना का निर्माण की नींव रखेंगें। लेकिन मुख्यमंत्री जहां सभा करने वाले है वहां बीती रात से भारी बारिश के चलते पंडाल में पानी भरा गया है। पूरा पंडाल में जल भऱाव की स्थिति हो गई है। सड़कों पर गड्डे बन गए और उसमें पानी भर गया है।हालांकि अधिकारी जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे है।पानी निकालने के निर्देश दिए गए है। कार्यक्रम दोपहर 12 बजे होना है।अब देखना है कि कार्यक्रम होता या निरस्त किया जाता है। 

बता दे कि सीएम शिवराज आज सीहोर जिले मे  विकास पर्व (सिंचाई) एवं फसल बीमा योजना राशि वितरण कार्यक्रम में भाग लेंगे।यहां वे साढे सात हजार करोड़ की नर्मदा पावती लिंक परियोजना की सौगात देंगें, जो आष्टा, इच्छावर,जावर विधानसभा के 187 ग्रामो का एक लाख हेक्टेयर रकबा सिचिंत होगा । वही खरीफ की फसल का बीमा 2017 का आष्टा तहसील के 29481 किसानों को 92 करोड एव जावर तहसील 12996 किसानों को 60 करोड बीमा राशि वितरण करेगे। परियोजना के प्रथम और द्वितीय चरण में इंदिरा सागर जलाशय से 32.04 क्यूमेक्स जल लगभग 295 मीटर ऊँचाई तक उदवहन किया जायेगा। प्रथम पम्पिंग स्टेशन का निर्माण ग्राम धरमपुरी तहसील कन्नौद के पास होगा। इस पम्पिंग स्टेशन से जल अन्य तीन स्थान पर निर्मित पम्पिंग स्टेशनों से ग्राम सिंगारचोली तहसील आष्टा में निर्मित जंक्शन स्ट्रक्चर में डाला जायेगा। इस स्थान से जल खेतों तक पहुँचेगा। योजना से सीहोर जिले की आष्टा, जावर तथा इछावर तहसील के 187 गाँवों का एक लाख हेक्टेयर रकबा सिंचित होगा। जल उदवहन पर अनुमानित 144 मेगावाट बिजली खपत होगी। नर्मदा-पार्वती लिंक प्रथम एवं द्वितीय चरण की अनुमानित लागत 3 हजार 415 करोड 30 लाख रूपये है। 

इस योजना की विशेषता यह है कि किसानों को प्रत्येक ढाई हेक्टेयर चक तक पाईप लाईन द्वारा 20 मीटर दाबयुक्त जल उपलब्ध होगा। इससे किसान माइक्रो सिंचाई का लाभ ले सकेंगे। योजना से सीहोर जिले के उन गाँवों/खेतों को सिंचाई का लाभ मिलने लगेगा, जो भौगोलिक रूप से ऊँचाई पर बसे होने से नहर सिंचाई से वंचित हैं।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...