CM के गृह जिले में बेखौफ रेत माफिया, SDM-तहसीलदार को पिस्टल दिखाकर भगा ले गए डंपर

सीहोर| मध्य प्रदेश में रेत माफिया बेख़ौफ़ है और सरकारी अमले पर भी हमले करने से नहीं चूक रहा है| सबसे ज्यादा माफिया का कहर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर में देखने को मिलता है, जहां रेत की चोरी खुलेआम होती है और जब कोई प्रशासन करवाई करता है तो उन पर हमला कर दिया जाता है| एक बार फिर ऐसा ही मामला सामने आया जब रेत का अवैध परिवहन करते डंपरों पर एसडीएम और तहसीलदार ने कार्रवाई की तो रेत माफिया के लोग पिस्टल दिखाकर रेत से भरा अवैध डंपर ले भागे। 

जानकारी के मुताबिक, एसडीएम राजेश शुक्ला, तहसीलदार प्रकाशचंद पांडे, नायब तहसीलदार एसआर देशमुख के साथ राजस्व अमला देर रात को रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन करने वालों पर कार्रवाई के लिए निकला था। तभी इंदौर रोड पर स्थित विशाल पेट्रोल पंप के सामने से गुजर रहे डंपर क्रमांक एमपी 09 एचएच 5514 को रोककर उसमें भरी रेत के संबंध में डंपर चालक से कागजात मांगे। जिस पर जवाब देने की बजाय चालक डंपर छोड़कर भाग निकला। इसके बाद जब अधिकारी डंपर की जप्ती बनाने लगे। इसी दौरान अतरालिया निवासी केदार यादव अपने तीन साथियों के साथ सफेद रंग की बिना नंबर की कार में सवार होकर मौके पर पहुंचा। उसने पिस्टल दिखाकर एसडीएम और तहसीलदार सहित पूरे राजस्व अमले को जान से मारने की धमकी दी। तभी मौक़ा देखकर एक बदमाश डंपर तेजी से चलाकर भगा ले गया। इस घटनाक्रम में अधिकारी-कर्मचारी भी बाल-बाल बच गए। अधिकारियों ने नसरुल्लागंज थाने में केस दर्ज कराया है।