Breaking News
अविश्वास प्रस्ताव के समय लोकसभा में कमलनाथ की गैरमौजूदगी के मायने | VIDEO : ये कैसा स्वच्छ भारत...शर्मसार एमपी | कविता रैना हत्याकांड : हाईकोर्ट ने सरकार को दिया सीबीआई जांच कराने का हक | पूर्व सांसद की पत्नी के बैग से मिले जिंदा कारतूस, मचा हड़कंप | शिवराज जी, मेरे देश द्रोही होने के प्रमाण हो तो मुझे सजा दिलवाएं, नही तो माफी मांगे : दिग्विजय | बड़ी खबर : आज से ट्रांसपोर्टर्स की देशव्यापी हड़ताल, थमे 90 लाख ट्रकों के पहिए | भोपाल के फिल्टर प्लांट से गैस लीक, मची अफरा-तफरी, सांस लेने में लोगों को हो रही दिक्कत | VIDEO: यशोधरा बोलीं..'मेहनत हमारी, वोट हाथी को' | सत्ता मद में चूर भाजपा सिंधिया के खिलाफ कर रही झूठा प्रचार : कांग्रेस विधायक | शिवराज की नजर में ..दिग्विजय 'देशद्रोही' की श्रेणी में |

VIDEO: बोलेरो नदी में बही, 15 घंटे सर्चिंग के बाद 2 बच्चों सहित तीन लोगों के शव निकाले

सीहोर|  पपनास नदी में मंगलवार रात बही बोलेरों में सवार तीन लोगों के शवों को 15 घंटे बाद गौताखोरों ने बाहर निकाल लिया है| सीहोर जिले के आष्टा की पपनास नदी में रात मुगली गांव के पास बने रपटे में बोलेरो गाड़ी बह गई थी। इसमें बैठे पांच में से तीन लोग बह गए, इनमें दो बच्चे शामिल थे।  2 लोग तो रात में ही बाहर आ गए थे लेकिन 2 बच्चों सहित 3 लापता थे। इन्हीं 3 लोगों को ढूंढने के लिए सुबह से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा था।

SDRF की टीम और ग्रामीणों की मदद से 15 घन्टे बाद के बाद तीनों को नदी से बाहर निकाल लिया गया है, जिसमे तीनो की मौत हो गई है, जिनके शवो को पोस्टमार्टम के लिए आष्टा भेजा गया है।मंगलवार की देर शाम आष्टा के ग्राम मुगली में पपनाश नदी पर बने रपटे को पार करने की कोशिश में बोलेरो जीप नदी में बह गई थी। भारी बारिश के चलते नदी उफान पर थी और पानी रपटे के ऊपर से बह रहा था, बावजूद इसके बोलेरो ड्राइवर ने जीप वहां से निकाली। रपटा छोटा था इसलिए पानी के बहाव में जीप नदी में बह गई।  किनारे पर खड़े लोग मना करते रहे है लेकिन ड्राइवर नहीं माना। बोलेरो बीच में जाकर अनियंत्रित होकर बह गई। इसमें पांच लोग बैठे हुए थे। बोलेरों में पांच लोग बैठे हुए थे। इनमे से एक को निकाल लिया था तथा दूसरा तैरकर दूसरे छोर पर पहुंच गया। हादसे के बाद प्रशासन के आला अधिकारी और पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। रात भर की सर्चिंग के बाद भी बहे हुए तीन लोगों का पता नहीं चल सका और बुधवार को एक बार फिर कई जगह कई जगह सर्चिंग अभियान शुरू किया गया, दिन भर चले ऑपरेशन के बाद शाम 5 बजे तीन शव बाहर निकाले गए| 

जीप में सवार सजनसिंह पिता जगन्नाथसिंह, मानसिंह पिता फूलसिंह को स्थानीय ग्रामीणों ने बचा लिया था, वहीं  मनोहरसिंह पिता जगन्नाथसिंह, रितिका पिता हरेंद्र और ऋषिराज पिता हरेंद्र जीप की मौत हो गई| ये सभी आष्टा से अपने गांव मुगली लौट रहे थे।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...