Breaking News
व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! | अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित |

अब मप्र में भगवामय हुआ सरकारी भवन..दीवार पर कमल निशान

सिवनी।

भाजपा पूरे देश को भगवामय करने में लगी हुई है।इसके लिए अब वो सरकारी भवनों पर भी भगवा रंग पोतने में कोई कसर नही छोड़ रही।ताजा मामला मध्यप्रदेश के सिवनी जिले की लखनादौन जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत घोघरीकला का है।यहां भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने पंचायत भवन को जबरन भगवा रंग पोत दिया ।इसके साथ ही उन्होंने क्षेत्रीय विधायक के नाम के साथ पार्टी का सिंबल कमल भी बना दिया। घटना के बाद से ही राजनीति शुरु हो गई है। भगवा को लेकर अब फिर सियासत गर्माने लगी है।

जानकारी के अनुसार,  सिवनी जिले के एक सरकारी पंचायत भवन को ना केवल भगवा पोत दिया गया बल्कि उस पर भाजपा का चुनाव चिन्ह कमल भी बना दिया। जहां पर पंचायत कार्यालय का नाम लिखा जाना चाहिए था वहां बड़े-बड़े अक्षरों में लिख दिया 'श्रीमती शिशि ठाकुर विधायक'।बताया जा रहा है कि ये सब स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जोर-जबरदस्ती से  किया।इसको लेकर अब विवाद खड़ा होने लगा है।अधिकारी कुछ बोलने से बच रहे है, वही विपक्ष  भीचुप्पी साधे हुए है। 

हालांकि घटना के बाद ग्राम पंचायत घोघरीकला के सचिव ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि इस भवन पर जोर-जबरदस्ती करके पुताई की गई है। हमने इसका विरोध भी किया था, लेकिन कार्यकर्ताओं ने किसी की नहीं चलने दी। कार्यकर्ताओं ने जबरन ग्राम पंचायत के भवन को भगवा रंग से पोत दिया।

बता दे कि हाल ही में उत्तरप्रदेश में कई सरकारी इमारतों पर भगवा रंग पोता गया था| साथ ही हज हाउस तक की दीवारों को भगवा कर दिया गया था हालांकि विवाद बढ़ने पर रंग हटा दिया गया था| अब ऐसा ही फितूर मप्र के भाजपा कार्यकर्ताओं और एक विधायक पर भी चढ़ा नज़र आया है, जिसकों लेकर अब विवाद खड़ा हो गया है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...