खेत से निकलीं प्राचीन मूर्तियां..पूजा अर्चना में जुटे ग्रामीण

सिवनी। जिले के छपारा तहसील के सालेगढ गांव के एक किसान के खेत में जुताई के दौरान चार प्राचीन मूर्तियां निकली हैं। मूर्ति निकलते ही ग्रामीण उसकी पूजा अर्चना करने लगे। इन मूर्तियों में भगवान गणेश के अलावा देवी की बेशकीमती मूर्तियां हैं, जिन्हें किसान ने अपने खेत की मेढ पर रख दिया है। बताया जा रहा है कि दो दिन पहले गांव के किसान दिनेश धुर्वे ट्रैक्टर से अपने खेत की जुताई कर रहे थे, इसी दौरान कल्टीवेटर जमीन में फंस गया, जब उन्होंने देखा तो कल्टीवेटर के नीचे पत्थर की मूर्ति देखकर वे चोंक गए। उन्होंने एक मूर्ति बाहर निकाली। किसान ने उस जगह पर आसपास जब खुदाई की तो तीन मूर्तियां और मिलीं। सभी मूर्तियां सुरक्षित हैं, जिन्हें देखकर ऐसा लगता है कि कुछ महीने पहले ही यहां ये मूर्तियां किसी ने छिपाई हों।  

पूजा अर्चना में जुटे ग्रामीण 

किसान दिनेश धुर्वे के खेत में मूर्तियां मिलने की जानकारी जैसे ही गाँव के लोगों को मिली वे फूल माला, अगरबत्ती और नारियल लेकर खेत पहुंच गए और पूजा अर्चना शुरू कर दिया। ये प्राचीन मूर्तियां इन ग्रामीणों के लिए आस्था का केंद्र बन गईं हैं। मूर्तियां देखने ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया है। ग्रामीणों ने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी किसान के खेत में मूर्तियां मिली हैं। 

नहीं पहुंचे अधिकारी

ग्राम पंचायत के सरपंच धनिराम ने बताया कि खेत से प्राचीन प्रतिमाओं के निकलने की जानकारी हम वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को दे चुके हैं, लेकिन अब तक पुरातत्व विभाग का कोई भी अफसर इन मूर्तियों के विषय में जानकारी जुटाने नहीं पहुंचा। 

किसान ने कहा

मैं ट्रैक्टर से खेत की जुताई कर रहा था। इस दौरान कल्टीवेटर में पत्थर टकराने की आवाज आई। खोदकर देखने पर मूर्तियां निकली। इनमें एक गणेश भगवान की मूर्ति साफ नजर आ रही है, अन्य देवी जी की प्रतिमाएं हैं। 

- दिनेश धुर्वे, किसान