खबर छापी इसलिए पुलिस नही ढूंढ रही पत्रकार की चोरी हुई बाइक

श्योपुर

एक युवक की थाने के सामने से बाइक चोरी हो गई थी,जिसके बाद उसने थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई,लेकिन पुलिसकर्मी ने उसकी बाइक नहीं तलाशी। कारण जानने पर पता चला कि युवक पेशे से पत्रकार है और अक्सर बाइक चोरी की खबरें छापता है, जिसके चलते पुलिसकर्मियों में नाराजगी है और इसी के चलते उन्होंने उसकी बाइक की तलाश शुरु नही की। जब युवक को इस बात की खबर हुई तो उसने बाइक खोजने का अपना आवेदन वापस ले लिया और खबरों को ना  छपाने से इंकार कर दिया है।

जानकारी के अनुसार,  श्योपुर के स्थानीय पत्रकार सुरेश वैष्णव की बाइक MP31-MB -6884 थाने के सामने से 11  जनवरी को चोरी हो गई थी। इस मामले में सुरेश ने रात को ही मौखिक औऱ दूसरे दिन यानि 12  जनवरी को कोतवाली थाने में लिखित शिकायत दर्ज की थी।पुलिस ने अज्ञात चोर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था।लेकिन जिस पुलिसकर्मी को इसकी जिम्मेदारी दी गई थी, उसने आज तक सुरेश से कोई पूछताछ नहीं की।इस संबंध में सुरेश ने खबर भी प्रकाशित की थी।

वही सुरेश ने बताया कि मंगलवार 20 फरवरी को उन्हें एसपी ऑफिस से बुलाया गया था और बाइक चोरी को लेकर चर्चा की। इस चर्चा के दौरान कोतवाली के एसपी शिवदयाल सिंह ने बताया कि आप पेशे से पत्रकार और आप वाहन चोरी की खबरे छापते हो इसलिए पुलिस ने आपकी बाइक की तलाश नही की। इस पर सुरेश ने थाने में आवेदन लिखकर अपना शिकायत वापस लेने की बात कही और लिखा कि मैं पेशे से पत्रकार हूं और खबरे छापना मेरा धर्म-कर्म है, मैं खबरे छापना बंद नहीं कर सकता इसलिए मेरे द्वारा बाइक चोरी का दिया गया आवेदन वापस ले रहा हूं।