Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

ग्रामीण से रिश्वत लेते रोजगार सहायक कैमरे में कैद, वीडियो हुआ वायरल

शिवपुरी।

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में लोकायुक्त ने रोजगार सहायक को रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है।आरोप है कि रोजगार सहायक ने प्रधानमंत्री आवास योजना कुटीर निर्माण के लिए रिश्वत की मांग की थी। वही रोजगार सहायक का रिश्वत लेते हुए दो वीडियो भी वायरल हुए है।एक वीडियो मे वह पैसे लेने की बात कर रहा है और दूसरे में ग्रमीण बता रहे है कि किससे कितने रुपये मांगे जा रहे है।

    बताया जा रहा है कि सहायक ने ग्रामीणों से 35-35 हजार रिश्वत की मांग की थी , और पहली किश्त के रुप में 10  हजार लेते वक्त लोकायुक्त ने उसे रंगेहाथों पकड़ लिया। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत पहले ही लोकायुक्त से कर दी थी और लोकायुक्त ने योजना बनाकर कार्रवाई को अंजाम दिया। रोजगार सहायक का नाम हामिद खान है और वह ग्राम चितारी में पदस्थ है।वही जिला पंचायत सीईओ का कहना है कि इस वीडियो की पहले पुष्टि करेंगे। फिर दोषी पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ एफआईआर तक की कार्रवाई की जाएगी। 

      वायरल वीडियो में रोजगार सहायक हामिद खान का रिश्वत लेते हुए दिखाई दे रहा है। वीडियो में एक व्यक्ति हामिद को पांच-पांच सौ के नोट देते हुए यह कह रहा है कि 10 हजार यह हो गए। जिसे रोजगार सहायक स्वीकार भी कर रहा है कि हां, दस हजार हो गए। इतना ही नहीं वहां बैठी एक अन्य ग्रामीण महिला यह कह रही है कि पांच हजार में मान लो,हमसे तो पांच की कही थी। इसी के साथ अगले वीडियो में ग्रामीण रोजगार सहायक के घर के बाहर खड़े हुए नजर आ रहे हैं और यह बता रहे हैं कि किससे कितने रुपए उक्त रोजगार सहायक ने लिए। इतना ही नहीं उसमें दो हितग्राही तो यहां तक कह रहे हैं कि जब हमारी किश्त की राशि आई तो उक्त रोजगार सहायक ने बैंक में हमसे जोर-जबर्दस्ती करके पैसे छीन लिए।वही जिला पंचायत सीईओ का कहना है कि इस वीडियो की पहले पुष्टि करेंगे। फिर दोषी पाए जाने पर संबंधित के खिलाफ एफआईआर तक की कार्रवाई की जाएगी। 

 

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...