MP : तेज बहाव के कारण सिंध नदी में फंसे 35 लोग, रेस्क्यू कर जवानों ने निकाला सुरक्षित

शिवपुरी।

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में बारिश में फंसे 35 लोगों को आईटीबीपी के जवानों ने भी रेस्क्यू ऑपरेशन कर हेलिकॉप्टर की मदद से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। बताया जा रहा है कि ये लोग शनिवार सुबह तेज बहाव के कारण करैरा में सिंध नदी में फंस गए थे। बचाए गए लोगों में वेंहगवा और पुला गांव के लोग शामिल है। फिलहाल किसी के फंसे होने की खबर नही है। हालांकि प्रशासन अलर्ट हो गया है, फिर से ऐसे हालात बनते है तो रेस्क्यू चलाया जाएगा।

घटना  करेरा तहसील अंतर्गत आने वाले सीहोर थाना क्षेत्र की है। यहां गुरुवार-शुक्रवार से लगातार तेज बारिश हो रही है, जिसके चलते सिंध नदी उफान पर आ गई। तेज बहाव के कारण वेंहगवा और पुला गांव के 35 लोग बारिश के चलते वहां फंस गए। प्रशासन को खबर मिलते ही वह अलर्ट हो गया और सुबह से ही टीम ने रेस्क्यू शुरु कर दिया। इसके बाद सफलता ना मिलने पर आईटीबीपी जवानों को भेजा गया । आईटीबीपी के जवान ग्रामीणों तक पहुंच तो गए थे लेकिन उन सभी का एक-एक कर रेस्क्यू किया जाना संभव नहीं नजर आ रहा था। इसके बाद जिला प्रशासन ने सेना की मदद ली और सेना के हेलीकॉप्टर की मदद से सभी ग्रामीणों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। इन ग्रामीणों में बच्चे, महिला व पुरुष सभी शामिल थे।

गौरतलब है कि मानसून के जाते जाते मध्यप्रदेश में बारिश लोगों पर कहर बनकर बरस रही है। कई जिलों में हालात बाढ़ जैसे हो चले है। लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले उफान पर है और यातायात का मार्ग प्रभावित हो रहा है। जिले में दो तीन दिनों से लगातार बारिश हो रही है। कई जगहों पर जलभराव की स्थिति पनपने लगी है।खासकरके निचले इलाकों में पानी भरने लगा है, घरों में पानी घुस रहा है, वाहन तैर रहे है। हालांकि प्रशासन अलर्ट है और निचले इलाकों में बने मकानों को खाली करने का निर्देश दे चुका है। निर्माण के बाद पहली बार अटल सागर मड़ीखेड़ा डैम के सभी 10 गेट खोले गए।