Breaking News
जेल की हवा खाने वाली 'भांजियों' को नहीं मिलेगी ऊंचाई में छूट! | कैबिनेट बैठक, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. | कांग्रेस के पोस्टर वॉर पर बोले पवैया- सूत न कपास, जुलाहों मैं लट्ठमलट्ठा | अगला CM कौन... 'सिंधिया' या 'कमलनाथ', पोस्टर वॉर से कांग्रेस में मचा घमासान | जूडा का अनोखा विरोध, MYH के सामने लगाई समानांतर ओपीडी | संगठन नहीं शिवराज के चेहरे पर ही चुनाव लड़ेगी भाजपा | अटकलों पर लगा विराम, किसी भी कीमत पर नही बिकेगा किशोर कुमार का पुश्तैनी घर | अंतर्राज्यीय चंदन तस्कर गिरोह का पर्दाफाश, वर्दी का रौब दिखाकर करते थे तस्करी |

रूस्तम के विवादित बोल..अनलिमिटेड डिमांड्स, देखिये वीडियो

 शिवपुरी

हमेशा अपने बयानों से सुर्खियां बटोरने वाले प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार उन्होंने किसानों को लेकर विवादित बयान दिया है। जिसके बाद से मंत्री के बयान के चारों तरफ से निंदा हो रही है। चुंकी अभी प्रदेश में किसान आंदोलन चल रहा है , ऐसे में विपक्ष ने मुद्दे को लपकते हुए सरकार पर हमले करना शुरु कर दिया है।

दरअसल, प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री और शिवपुरी के प्रदेश प्रभारी आज मोदी सरकार के चार साल की उपलब्धियां गिनाने सर्किट हाउस में मीडिया से रुबरु हुए थे, जहां उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जिन किसानों को  भगवान का दर्जा देते है उन किसानों को जिद्दी बेटा ओर सरकार को बाप बता दिया। वही किसान आंदोलन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि आप अपने बेटे को गाड़ी दो तो वह बड़ी गाड़ी मांगेगा, और जब बड़ी गाड़ी दोगे तो वह मर्सडीज मांगेगा । वैसे भी हक की बात वह लोग कर रहे है जिन्होंने जिंदगी में कुछ किया ही नही है ।

गौरतलब है कि प्रदेश में किसान आंदोलन चल रहा है।इधर सरकार किसानों को मनाने में हर संभव प्रयास कर रही है वही दूसरी तरफ उन्हीं के मंत्री विवादित बयान देने से नही चूक रहे है। किसान आंदोलन के बीच में मंत्री का ये बयान आग में घी का काम कर सकता है, जो आने वाले चुनाव में सरकार के लिए सबब बन सकता है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...