'बुआ' पर भारी 'भतीजा'...यशोधरा-ज्योतिरादित्य

शिवपुरी।  प्रदेश की राजनीति में सिंधिया घराने के दो चेहरे हमेशा चर्चा में रहते हैं| प्रदेश का शिवपुरी जिला जहां से यशोधरा राजे सिंधिया विधायक है, लेकिन लोकप्रियता के मामले में ज्योतिरादित्य सिंधिया हमेशा बाजी मार ले जाते हैं| यह जिला उनके संसदीय क्षेत्र में भी आता है, वहीं सिंधिया घराने का यहां खासा प्रभाव है|  बीते दिनों हुए उपचुनाव में भी भतीजे का जादू चला और कोलारस सीट पर बुआ कमल नहीं खिला पाई| इतना ही नहीं यहां जनता को भी भतीजा सिंधिया और कांग्रेस का पंजा ही याद है, जो कई मौके पर सरकार की किरकिरी भी करा देता है| ऐसा ही एक बार फिर हुआ जब यशोधरा राजे सिंधिया गुरुवार को उज्ज्वला योजना के तहत सिलेंडर वितरण करने शिवपुरी पहुंची थी, जहां उन्होंने ग्रामिणों से पूछा कि यह सिलेंडर किसके द्वारा वितरित किए जा रहे है तो गांव वालों ने तुरंत उन्हें पंजा दिखा दिया। जिसके बाद मंत्री सिंधिया भड़क उठी और सारा गुस्सा कार्यकर्ताओं पर निकाल दिया। यह सारा नजारा कैमरे में कैद हो गया जो उन्होंने तत्काल ही डिलीट करवा दिया। इसके बाद उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि ये प्रधानमंत्री मोदी द्वारा वितरित किए जा रहे है। 

दरअसल, मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया गुरुवार को एक दिवसीय प्रवास पर शिवपुरी पहुंची थी। यहां उन्होंने जनपद के ग्रामीण क्षेत्र कोटा में उज्ज्वला योजना के तहत सिलेंडर वितरण किए। इसी दौरान उन्होंने ग्रामीणों से जब पूछा कि यह सिलेंडर किसके द्वारा वितरित किए जा रहे हैं तो ग्रामीणों ने हाथ का पंजा दिखा दिया। इस पर यशोधरा राजे को गुस्सा आ गया और उन्होंने कार्यकर्ताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि आप लोग जनता तक सरकार की योजनाओं की सही जानकारी नही पहुंचा रहे है। जनता को पता होना चाहिए कि किस योजना और किसके द्वारा उन्हें लाभ मिल रहा है। कौन सी सरकार यह सब वितरित करा रही है।खास बात तो ये रही कि यह सारा नजारा कैमरे में कैद हो गया जो उन्होंने तत्काल ही डिलीट करवा दिया। लेकिन बहुत से लोगों ने इसका मोबाइल पर वीडियो बना लिया। इस दौरान उन्होंने ग्राम हातौद में ढाई लाख की लागत से निर्मित सिंगल फेस ट्यूबवेल का भी शुभारंभ किया। वहीं आवासीय पट्टे सहित उज्जवला योजना के कनेक्शन वितरित कर योजना का बखान किया और ग्रामीणों को बताया कि ये योजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की योजना है, उन्ही के द्वार ये सिलेंडर उन्हें वितरित किए जा रहे है।

बता दे कि यह पहला मौका नही है जब इस तरह की स्थिति पैदा हुई है । इसके पहले भी शिवपुरी में प्रशासन द्वारा आयोजित अंत्योदय मेला में ऐसे वाक्या घट चुका है। यहां लगे अंत्योदय मेले में मंत्री यशोधरा राजे दिव्यांगों को ट्राइसिकल भेंट करने आई थीं| कार्यक्रम में उन्होंने एक दिव्यांग महिला को ट्राइसिकल भेंट की इसके बाद उन्होंने पूछा कि ये साइकिल तुम्हें किसने दी| महिला ने कहा कि सरकार ने दी| मंत्री ने दोबारा पूछा कि कौन सी सरकार ने तुम्हें ये ट्राइसिकल भेंट की, उसका चिह्न क्या है? महिला बोली-उसका चिह्न हाथ का पंजा है| यह सुनते ही मंत्री के हाव भाव बदल गए| उन्हें देख कर महिला ने भी मारी और कहा कि गलती हो गई| इस पर मंत्री बोलीं कि तुम्हें कई बार सॉरी कहना चाहिए|   मंत्री ने न सिर्फ महिला से सॉरी बुलवाया और बल्कि हसंते हसंते महिला को सरकार और कमल की जानकारी भी दी। हालांकि इसके बाद उन्होंने कार्यकर्ताओं को जमकर फटकार लगाई थी।

 

"To get the latest news update download tha app"