सीएम के काफिले पर पथराव, टूटा रथ का शीशा, भाजपा ने लगाए कांग्रेस पर आरोप

सीधी। 

मुख्यमंत्री शिवराज की सुरक्षा में एक बार फिर चूक सामने आई है। मामला रविवार देर शाम सीधी के चुरहट का है। यहां जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान कुछ लोगों द्वारा सीएम के ऱथ पर पत्थर फेंकें गए। हालांकि सीएम को चोट नही आई लेकिन रथ के शीशे फूट गए। इस घटना के बाद प्रदेश की राजनीति गर्मा गई है।वही बीजेपी ने पत्थरबाजी के पीछे कांग्रेस का हाथ  बताया है।वहीं कुछ लोग इसे एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ लोगों का गुस्सा बता रहे हैं । फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

दरअसल, रविवार देर शाम सीएम शिवराज  की जन आशीर्वाद यात्रा नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की विधानसभ सीधी के चुरहट पहुंची।तभी अचानक कुछ लोगों ने उन पर पत्थर फेंकना शुरु कर दिया। गनिमत रही कि पत्थर रथ पर जा लगा, सीएम को कोई चोट नही आई। घटना के बाद वहां भगदड़ की स्थिति हो गई। लोग इधर-से -उधर भागने लगे।हालांकि ये पहला मौका था जब जनआशीर्वाद यात्रा का विरोध करते हुए सीएम पर पथराव किया गया ।भाजपा ने इस घटना के पीछे कांग्रेस की साजिश बताया है।पुलिस ने इस मामले में करीब 20 संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी को पूछताछ के लिए कमर्जी थाना लाया गया है।

घटना के बाद विपक्ष पर बोला हमला

वही घटना के बाद सीएम ने हाथ में माइक थामा और ललकारते हुए कहा कि पत्थर फेंकने वालों में अगर हिम्मत हैं तो सामने आकर मुकाबले करें, छुपकर इस तरह की हरकतें ठीक नहीं हैं। उन्होंने इशारों ही इशारों में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह पर हमला बोलते हुए कहा कि तुम राजनीतिको कहां ले जाओगे। तुम्हारे पिताजी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं। केंद्रीय मंत्री रहे हैं। पंजाब के गवर्नर भी रहे हैं। उन्होंने कभी इस तरह के संस्कार नहीं डाले। वे तो भाजपा के एक कार्यक्रम में हम लोगों ने बुलाया था तो मुख्यमंत्री रहते हुए आए थे। उन्होंने मतभेद को कभी मनभेद नहीं बनाया। वही सीएम के इस हमले पर अजय सिंह ने पलटवार किया है। अजय सिंह ने इसे बदनाम करने की साजिश करार दिया है। उन्होंने कहा है कि ये चुरहट की जनता और मुझे बदनाम करने की साज़िश है। ये घटना बेहद निंदनीय है और इसमें कांग्रेस का कोई हाथ नहीं है।

घटना की भाजपा नेताओं ने की निंदा 

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हए ट्वीट किया और लिखा, 'चुरहट विधानसभा क्षेत्र में शिवराज सिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा के रथ पर किया गया पथराव कायराना हरकत है। सभ्य समाज में ऐसी हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। जनता इस कायरता का करारा जवाब कांग्रेस को देगी। वहीं बीजेपी के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पराशर ने ट्वीट करते हुए कहा कि चुरहट में जन आशीर्वाद यात्रा को मिले अपार जनसमर्थन से लोग कायरों की तरह पथराव पर उतर आए।  पूरे प्रदेश की जनता और ईश्वर मुख्यमंत्री के साथ हैं. कायराना हरकत करने वालों, जनता तुम्हारी कायरता का करारा जवाब देगी। 

काले झंडे भी दिखाए

वही इससे पहले सीधी जिले के मायापुर सीएम को काले झंडे भी दिखाए गए। अब ये पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि काले झंडे दिखाने वाले किसी राजनैतिक संगठन से थे या एससी- एसटी एक्ट एक्ट का विरोध करने वाले संगठनों से जुड़े हुए लोग थे क्योंकि रविवार को पूरे प्रदेश में नेताओं को एससी- एसटी एक्ट पर विरोध का सामना करना पड़ा है।

 बता दें कि राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के काफिले पर भी बीते दिनों पथराव हुआ था। यह घटना गौरव यात्रा के दौरान पीपड़ में हुई थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री के सुरक्षा अफसरों ने हेलीकॉप्टर मंगाया, तब जाकर राजे जयपुर लौंटीं। उस दौरान भी पत्थरबाजी में बीजेपी ने कांग्रेस का हाथ बताया था।