Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

MP : दूषित खाना खाने से 22 छात्राओं की तबीयत बिगड़ी, मचा हड़कंप

सीधी।

मध्यप्रदेश के सीधी जिले में आज शुक्रवार को नर्सिंग कॉलेज में पढ़ने वाली दो दर्जन छात्राएं छात्रावास के दूषित खाना खाने से बीमार हो गई। बताया जा रहा है कि छात्रावास में बनने वाले खाने में  कोई जहरीला कीड़ा गिर गया था, वाबजूद इसके छात्राओं को खाना परोस दिया गया और वे बीमार हो गई। छात्रावास जिला अस्पताल परिसर में संचालित नर्सिंग कॉलेज द्वारा ही संचालित किया जाता है।छात्रों की तबीयत खराब होने पर उन्हें अस्पताल मे भर्ती करवाया गया है,जहां उनका इलाज जारी है। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई औऱ मामले की जांच की जा रही है। हालांकि प्रबंधन इस मामले को दबाने में जुटा हुआ है।

दरअसल, नर्सिंग कॉलेज का छात्रावास भवन न बनने के कारण यहां अध्ययनरत करीब दो सैकड़ा छात्राएं विभाग द्वारा शहर के उत्तरी करौंदिया कॉलेज स्टेडियम मार्ग में लिए गए एक निजी भवन में रहती हैं। रोजमर्रा की तरह आज भी छात्राओं को सुबह 7 बजे नास्ता औऱ कॉलेज के लिए टिफिन दिया गया, जैसे ही छात्राओं ने खाना खाया उसके थोड़ी देर बाद उसमें से कईयो को चक्कर आने लगे, उल्टियां होने लगी। देखते ही देखते छात्राओं की तबीयत बिगडने लगे तो छात्रावास में हड़कंप मच गया। शोर सुनते बाकी की छात्राएं बाहर आ गई औऱ छात्राओं को इलाज के लिए जिला अस्पताल में ले गई। कुछ छात्राओं द्वारा जब वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई तो उन्होंने जांच की बात कही। खाना चेक किया गया तो दाल में जहरीला कीड़ा कनखजूरा निकला।करीब 22 छात्राओं ने यह भोजन किया था, जिसमें से 10 छात्राओं के तबियत में सुधार आने पर उन्हे छुट्टी दे दी गई, जबकि 12 की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।घटना की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ एसडीएम , तहसीलदार जिला अस्पताल पहुंचे औऱ छात्राओं का हाल जाना। फिलहाल पुलिस द्वारा मामले की जांच की रही है। हालांकि प्रबंधन इस मामले को दबाने में जुटा हुआ है।

बता दे कि  यहां छात्राओं को भोजन की जिम्मेदारी विभाग द्वारा टेंडर पर सर्वोदय कल्याण समिति भोपाल को सौंपी गई है, जो पिछले करीब एक वर्ष से छात्राओं के लिए भोजन व नास्ते की जिम्मेदारी उठा रहा है। भोजन के एवज में प्रति छात्रा विभाग द्वारा पचास रुपए लिए जाते हैं। हालांकि सर्वोदय कल्याण समिति भोपाल की समय सीमा समाप्त हो चुकी है, जिसके चलते पिछले सप्ताह ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा निविदा आमंत्रित की गई थी।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...