Breaking News
अधिकारी की कलेक्टर को नसीहत, 'आपकी कार्यशैली पर लज्जा आती है, तबादला करा लें' | दागियों का कटेगा टिकट, साफ-सुथरी छवि के नेताओं को चुनाव में उतारेगी भाजपा | फ्लॉप रहा कांग्रेस का 'घर वापसी' अभियान, सिर्फ कार्यकर्ता लौटे, नेताओं ने बनाई दूरी | शिवराज कैबिनेट की बैठक ख़त्म, इन प्रस्तावों पर लगी मुहर | सीएम चेहरे को लेकर सोशल मीडिया पर जंग, दिग्विजय भड़के | मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव, महिदपुर- नागदा के बीच की घटना, पुलिस वाहन के कांच फूटे | अब भोपाल में राहुल ने फिर मारी आंख, वीडियो वायरल | एमपी की 148 सीटों पर खतरा, बिगड़ सकता है बीजेपी का चुनावी गणित | LIVE: ऊपर से टपकने वाले को नहीं मिलेगा टिकट : राहुल गांधी | राहुल की सभा में उठी सिंधिया को सीएम कैंडिडेट घोषित करने की मांग |

'तबादले वाली मैडम' कहकर उड़ाया जाता था मजाक, अब फिर 500 किमी दूर ट्रांसफर

भोपाल/सीधी| बार-बार तबादले से परेशान होकर पीएम को चिट्ठी लिखने और कौन बनेगा करोड़पति में 50 लाख जीतने वाली 'तबादले वाली मेडम' का एक बारी ट्रांसफर हुआ है| उन्हें वर्तमान स्थान से 500 किमी दूर भेजा गया है| ऑर्डर आते ही कलेक्टर दिलीप कुमार ने उन्हें तुरंत रिलीव भी कर दिया। तबादलों को लेकर वो सीएम से लेकर पीएम को लिख चुकी हैं| तब उन्होंने कहा था 13 साल की सर्विस में उनका 25 बार ट्रांसफर हो चुका है, इसलिए सभी तबादले वाली मेडम कहकर मजाक उड़ाते है|  जब भी मेरा ट्रांसफर किया गया, हर बार 500 किमी दूर ही भेजा गया। पिछली बार ब्यावरा से 800 किमी. दूर सीधी उनका तबादला किया गया था| अब सीधी से उनका तबादला शिवपुरी किया गया है| 

चुरहट में तहसीलदार के पद पर पदस्थ रहते हुए भी अमिता सिंह तोमर कई मामलों को लेकर सुर्ख़ियों में रही|  अतिक्रमण के खिलाफ तेजी से कार्रवाई को लेकर भी वो चर्चा में आईं थी। हालाकि स्थानीय लोगों ने उन पर जमीन नामांतरण में गड़बड़ी के आरोप लगाए।  अपने पालतू कुत्ते बेबो की सरकारी भूमि पर समाधि बनवाने और उसके 12वें पर शाही भोज को लेकर भी अमिता सुर्ख़ियों में रही| 


'ट्रांसफर वाली मैडम' कहकर उड़ाया जाता था मजाक, पीएम को लिखी थी चिट्ठी  

पिछले साल नवंबर 17 से चुरहट में पदस्थ तहसीलदार अमिता सिंह तोमर के 13 साल में 9 जिलों में 25 बार तबादले हो चुके हैं। अब यह 26 वां तबादला है| बार बार तबादलों से परेशान होकर अमिता सिंह तोमर ट्वीटर के जरिए प्रधानमंत्री मोदी तक शिकायत कर चुकी हैं। राजगढ़ से चुरहट तबादले के बाद उन्होंने सवाल उठाए थे और महिला अधिकारी को दूर भेजने पर पीएमओ को भी शिकायत की थी। इससे पहले वो ब्यावरा में पदस्थ थी और 800 किमी दूर सीधी तबादला होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र औैर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विट कर न्याय की गुहार लगाई थी। अमिता, केबीसी में 50 लाख रुपए भी जीत चुकी हैं। उस समय उन्होंने कहा था कि पहले कभी उन्हें केबीसी वाली मैडम के नाम से पुकारा जाता था, लेकिन अब तबादले वाली मैडम कहकर मजाक उड़ाया जाता है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...