Asian Games 2018 : आज से होगा एशियन गेम्स का रंगारंग आगाज, इतिहास रचने को तैयार भारत

नई दिल्ली।

आज से एशियन गेम्स के  18वें संस्करण का रंगारंग आगाज होने जा रहा है।ये गेम्स इंडोनेशिया के जकार्ता और पालेमबांग में आयोजित किए जाएंगें।यह पहला मौका होगा जब इस तरह दो शहरों को एशियाई खेलों की मेजबानी मिली है। इन खेलों में 45 देशों के 11,000 खिलाड़ी भाग लेंगे। भारतीय समयानुसार शाम 5.30 बजे उद्घाटन समारोह में भारत के भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा तिरंगा थाम कर भारतीय दल की अगुवाई करेंगे । रविवार से विभिन्न खेल प्रतियोगिताएं शुरू होंगी । खास बात ये है कि आज गूगल ने भी डूडल बनाकर एशियन गेम्स 2018 का जश्न मनाया है।

2 सितंबर तक चलने वाले इन एशियाई  में 40 खेलों की 67 स्पर्धाएं होंगी। जहां 28 ओलंपिक स्पोर्ट्स, 4 नए ओलंपिक स्पोर्ट्स और 8 नॉन ओलंपिक स्पोर्ट्स खेले जाएंगे। इनमें से भारत ने तीरंदाजी, ऐथलेटिक्स, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, बॉक्सिंग, बोलिंग, ब्रिज, कैनोइ-कायक, साइक्लिंग, फेंसिंग, जिम्नैस्टिक, गोल्ड, हैंडबॉल, हॉकी, जूडो, कबड्डी, कर्राटे, कुराश, पेनकाक सिलात, रोलर स्पोर्ट्स, टेनिस, ताइकवांडो, सॉफ्ट टेनिस, टेबल टेनिस, वॉलिबॉल, वेटलिफ्टिंग, रेसलिंग और वुशू जैसे करीब 34 खेलों में अपनी भागीदारी तय की है।। एशियाई खेलों के 18वें संस्करण की मेजबानी करने वाले इंडोनेशियाई शहर जकार्ता के राष्ट्रीय संग्रहालय में इन खेलों में हिस्सा लेने आ रहे खिलाड़ियों और अधिकारियों को मुफ्त प्रवेश दिया जाएगा। एशियाई खेलों की वेबसाइट पर इस बात की जानकारी दी गई है। भारत ने इस बार 570 खिलाड़ियों का दल इन खेलों में भेजा है। यह इन खेलों में भारत का सबसे बड़ा दल है। इसके पहले इंचियोन में गेम्स हुए थे, जिसमें भारत ने 57 ( 11 स्वर्ण पदक, 10 रजत और 36 कांस्य) मेडल जीते थे और आठवीं पोजिशन हासिल की थी।

भारत का अब तक का सबसे अच्छा प्रदर्शन 2010 के ग्वांग्झू एशियाई खेलों में रहा था, जब उसने 14 स्वर्ण पदक सहित 65 पदक जीते थे। 2010 के ग्वांग्झू एशियाई खेल 2010 दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद आयोजित किए गए थे ।भारत के ओवरऑल प्रदर्शन पर नजर डाली जाए तो वो 1951 के पहले यानी दिल्ली एशियाई खेलों में दूसरे स्थान पर रहा था। तब उसने 15 स्वर्ण पदक सहित 52 पदक जीते थे।वही भारत पिछली बार 1986 में पांचवें स्थान पर रहा था, जब भारत ने पांच स्वर्ण पदक ही जीते थे।