मोहम्मद शमी को बड़ी राहत, पत्नी ने लगाए थे मैच फिक्सिंग के आरोप, BCCI से मिली क्लीन चिट

नई दिल्ली| अपनी पत्नी के संगीन आरोपों में घिरे भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को बड़ी राहत मिली है, बीसीसीआई ने शमी को मैच फिक्सिंग के आरोपों पर क्लीनचिट दे दी है|  इसके बाद बोर्ड ने उनके केंद्रीय अनुबंध को मंजूरी दे दी। शमी को ग्रेड बी का वार्षिक अनुबंध दिया गया है जिससे उन्हें तीन करोड़ रुपये मिलेंगे। वह सात अप्रैल से शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपनी फ्रेंचाइजी दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेलने के लिये भी स्वतंत्र होंगे | आईपीएल शुरू होने से पहले यह शमी के लिए अच्छी खबर है और वह जल्द ही दिल्ली डेयर डेविल्स के अभ्यास शिविर में हिस्सा लेंगे| 

बीसीसीआई ने गुरुवार को बयान जारी कर बताया कि शमी के खिलाफ फिक्सिंग की जांच की गई और वह किसी भी तरह दोषी नहीं पाया। उन्हें ग्रेड-बी ऑफर किया गया है। उल्लेखनीय है कि शमी पर उनकी वाइफ हसीन जहां ने पाकिस्तानी लड़की से पैसे लेने का आरोप लगाते हुए मैच फिक्सिंग में शामिल होने का शक जताया था। जिसके बाद जांच में शमी पर लगे मैच फिक्सिंग के आरोप गलत निकले।  

 शमी को ग्रेड-बी का वार्षिक अनुबंध दिया गया है, जिससे उन्हें 3 करोड़ रुपये मिलेंगे। वह 7 अप्रैल से शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग में अपनी फ्रैंचाइजी दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेलने के लिए भी स्वतंत्र होंगे। बीसीसीआई ने इससे पहले हसीन जहां के आरोपों के मद्देनजर शमी का अनुबंध रोके रखने का फैसला किया था। 

शमी पर उनकी पत्नी ने व्यभिचार और घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। शमी ने सभी आरोपों का खंडन किया था। शमी के खिलाफ उनकी पत्नी हसीन जहां ने धारा 307 (हत्या की कोशिश का आरोप), 498 ए (घरेलू हिंसा), 506 (आपराधिक धमकी), 328 (जहर के जरिए नुकसान पहुंचाना), 34 (कई लोगों द्वारा किसी अपराध को अंजाम देने के लिए साझा साजिश) और 376 (बलात्कार) सहित कई धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया है|