Breaking News
जब मध्य प्रदेश की मंत्री को महंगा पड़ा था अंबानी का विरोध | MP: कांग्रेस-बसपा गठबंधन की संभावना बरकरार, हो सकता है गुप्त समझौता | SC-ST एक्ट पर BJP में फूट: शिवराज के ऐलान से नाराज उदित राज, दे डाली यह नसीहत | दर्दनाक हादसा: दो कारों की भिड़ंत में जनपद सीईओ समेत 4 लोगों की मौत | कैसे पूरी होगी शिवराज की यह घोषणा | कांग्रेस की उम्मीदों पर फिर पानी, बसपा ने जारी की प्रत्याशियों की पहली सूची | डंपर काण्ड: CM के खिलाफ याचिका खारिज, SC ने कहा-'चुनाव लड़ना है तो मैदान में लड़ें, कोर्ट में नहीं' | बीजेपी विधायक का आरोप, सवर्ण आंदोलन के लिए हो रही विदेशी फंडिंग | व्यापमं का जिन्न फिर बाहर: दिग्विजय ने शिवराज, उमा समेत 18 के खिलाफ किया परिवाद दायर | चुनाव लड़ने का इंतजार कर रहे बीजेपी के 70 विधायकों में मचा हड़कंप! |

इंसानियत शर्मसार : नहीं आया शव वाहन, मां के शव को बाइक पर बांधकर अस्पताल पहुंचा बेटा

टीकमगढ़।

मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में एक बार फिर मानवता को शर्मसार करने वाली तस्वीरें सामने आई है।यहां शासकीय वाहन न मिलने के चलते बेटा अपनी मां के शव को बाइक पर बांधकर अस्पताल पहुंचा। गाडी चलाते वक्त बेटे ने अपनी मृत मां के पैर गाड़ी के पैर फुटरेस्ट से बांध दिए थे ताकी वो नीचे ना गिर जाए।घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसके बाद से ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद अपर कलेक्टर ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर एक बार फिर से मध्य प्रदेश में एंबुलेंस सेवा और प्रशासन की पोल खुल गई है। 

दरअसल मोहनगढ़ थाना क्षेत्र के मस्तापुर गांव की रहने वाली बुजुर्ग महिला  कुंवरबाई वंशकार की सोमवार देर शाम सांप के काटने से मौत हो गई थी।इसकी जानकारी मृतका के परिजनों ने मोहनगढ थाना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिला के शव को अपने कब्जे में लेने की बजाय मृतका के परिजनों को शव जिला अस्पताल ले जाने की सलाह दे डाली। परिजनों के पास वाहन न होने के कारण परिजन मृत महिला के पैर बाईक से बांधकर जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। इस वीडियो के आने के बाद प्रशासन और पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद अपर कलेक्टर ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। इस पूरे मामले में पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नही।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...