Breaking News
अध्यापकों के तबादलों से रोक हटी, आदेश जारी | राहुल गांधी की सभा की अनुमति को लेकर बैकफुट पर प्रशासन, बदली शर्ते | किसान और जनता के घरो में डाका डाल रही सरकार : अजय सिंह | शराब दुकानों को लेकर आमने-सामने हुए दो विभाग | सहकारी बैंक का जीएम 50 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथों धराया | कम नहीं होगा पेट्रोल-डीजल पर वैट : वित्तमंत्री मलैया | VIDEO : मप्र कोटवार संघ की सरकार को चेतावनी- मांगे पूरी नहीं हुई तो कांग्रेस को देंगें समर्थन | VIDEO : बाप को जेल ले जा रही थी पुलिस, बेटियों ने जीप पर चढ़कर किया जमकर हंगामा | एमपी टूरिज्म के रिसॉर्ट में तेंदुए का टेरर..देखिये वीडियो | तख्तियों पर 'देखों ये मोदी का खेल, 82 रु हो गया तेल' स्लोगन लिख कांग्रेस ने जताया विरोध |

पुलिस आरक्षक की हत्या का खुलासा, मुख्य आरोपी सहित तीन सहयोगी गिरफ्तार

टीकमगढ़।आमिर खान। 24 फरवरी की देर शाम पुलिस जवान राजबहादुर यादव अपनी टीम के साथ चोरी और लूट में शामिल आरोपी रविंद्र रजक को गिरफ्तार करने गए थे। इसी दौरान आरोपी ने राजबहादुर को 315 के कट्टे से गोली मार दी थी जिससे पुलिस जवान मौके पर शहीद हो गए थे। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया था। पुलिस ने मुख्य आरोपी सहित तीन अन्य को गिरफ्तार किया गया है, जिन्होंने आरोपी का सहयोग किया था। 

पुलिस कंट्रोल रूम में SP कुमार प्रतीक ने खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी रविंद्र और नीलू रैकवार पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के स्थान पर छुपे हुए थे तभी हमारी पुलिस टीम ने गिरफ्तार करने गई तो रविंद्र ने आरक्षक राजबहादुर की हत्या कर दी थी। हत्या के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए लगातार प्रयासरत थी और अंततः उसे गिरफ्तार कर ही लिया गया। आरोपी रविंद्र के साथ तीन अन्य को गिरफ्तार किया गया है,जिन्होंने आरोपी का सहयोग किया था। 

आरोपी और उसकी प्रेमिका रूबी रैकवार को दिल्ली के फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया है। घटना के बाद आरोपी की प्रेमिका ने उसके कपड़े छिपाए थे और लगातार उसका भागने में सहयोग कर रही थी। इसके साथ ही बाबूलाल यादव और राजेश तिवारी को भी गिरफ्तार किया गया है|  इन्होंने भी आरोपी रविंद्र का हत्या के बाद सहयोग किया था। SP कुमार प्रतीक ने बताया कि रविंद्र आदतन अपराधी है और जिले के विभिन्न थानों में उसके विरुद्ध 18 से ज्यादा प्रकरण दर्ज हैं। इसके साथ ही जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के किसी थाने में इसके विरुद्ध 302 का मामला पंजीबद्ध है। फिलहाल पुलिस ने इस हत्याकांड के सभी आरोपियों को जेल की सलाखों में भेज दिया है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...