Breaking News
21 अगस्त को भोपाल में होगी 'अटल जी' की श्रद्धांजलि सभा, कांग्रेस भी होगी शामिल | चुनाव से पहले यात्राओं का दौर, दिग्विजय के बाद जयवर्धन ने शुरू की पदयात्रा | कांग्रेस का आरोप- नरेला विधानसभा में 11 हजार फर्जी वोटर, विधायक बोले- असली को नकली बता रहे | प्रशासन बता रहा 'डेंगू' छुआछूत की बीमारी | किसकी होगी पूरी मुराद, आज महाकाल के दर पर सिंधिया-शिवराज | सड़क पर सियासत : कमलनाथ बोले- बुधनी से अच्छी छिंदवाड़ा की सड़कें, शिवराज जी एक बार जरुर आए | सुल्तानगढ़ वॉटरफॉल हादसा : मौत से संघर्ष के बाद भी कैसे हार गई 9 जिंदगियां, देखें वीडियो | शर्मसार : सागर में नाबालिग से गैंगरेप, बीते दिनों ही मिला था सबसे सुरक्षित शहर का तमगा | कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने लिया विस चुनाव में भाजपा को उखाड़ फेंकने का संकल्प | केंद्रीय मंत्री की बहन को एसिड अटैक और मारने की धमकी |

पुलिस आरक्षक की हत्या का खुलासा, मुख्य आरोपी सहित तीन सहयोगी गिरफ्तार

टीकमगढ़।आमिर खान। 24 फरवरी की देर शाम पुलिस जवान राजबहादुर यादव अपनी टीम के साथ चोरी और लूट में शामिल आरोपी रविंद्र रजक को गिरफ्तार करने गए थे। इसी दौरान आरोपी ने राजबहादुर को 315 के कट्टे से गोली मार दी थी जिससे पुलिस जवान मौके पर शहीद हो गए थे। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया था। पुलिस ने मुख्य आरोपी सहित तीन अन्य को गिरफ्तार किया गया है, जिन्होंने आरोपी का सहयोग किया था। 

पुलिस कंट्रोल रूम में SP कुमार प्रतीक ने खुलासा करते हुए बताया कि आरोपी रविंद्र और नीलू रैकवार पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के स्थान पर छुपे हुए थे तभी हमारी पुलिस टीम ने गिरफ्तार करने गई तो रविंद्र ने आरक्षक राजबहादुर की हत्या कर दी थी। हत्या के बाद से ही आरोपी फरार चल रहा था पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए लगातार प्रयासरत थी और अंततः उसे गिरफ्तार कर ही लिया गया। आरोपी रविंद्र के साथ तीन अन्य को गिरफ्तार किया गया है,जिन्होंने आरोपी का सहयोग किया था। 

आरोपी और उसकी प्रेमिका रूबी रैकवार को दिल्ली के फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया है। घटना के बाद आरोपी की प्रेमिका ने उसके कपड़े छिपाए थे और लगातार उसका भागने में सहयोग कर रही थी। इसके साथ ही बाबूलाल यादव और राजेश तिवारी को भी गिरफ्तार किया गया है|  इन्होंने भी आरोपी रविंद्र का हत्या के बाद सहयोग किया था। SP कुमार प्रतीक ने बताया कि रविंद्र आदतन अपराधी है और जिले के विभिन्न थानों में उसके विरुद्ध 18 से ज्यादा प्रकरण दर्ज हैं। इसके साथ ही जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के किसी थाने में इसके विरुद्ध 302 का मामला पंजीबद्ध है। फिलहाल पुलिस ने इस हत्याकांड के सभी आरोपियों को जेल की सलाखों में भेज दिया है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...