Breaking News
VIDEO: यशोधरा बोलीं..'मेहनत हमारी, वोट हाथी को' | सत्ता मद में चूर भाजपा सिंधिया के खिलाफ कर रही झूठा प्रचार : कांग्रेस विधायक | शिवराज की नजर में ..दिग्विजय 'देशद्रोही' की श्रेणी में | VIDEO : इंदौर महापौर बोली - निगम नही वसूलेगा केबल और डीटीएच पर मनोरंजन शुल्क | एमपी के इस गांव में मिले 25 कैंसर के मरीज, मचा हड़कंप | कारोबारी के यहां आयकर का छापा, 100 किलो सोना और 10 करोड़ कैश बरामद | एमपी में बेरोजगारों की फौज, 1700 पद के लिए डेढ़ लाख आवेदन | दर्दनाक हादसा : ओवरब्रिज से 20 फीट नीचे खेत में जा गिरी बस, एक की मौत, 40 घायल | अखिलेश का शिवराज पर हमला, MP में कही भी ऐसी सड़क नहीं जो अमेरिका से अच्छी हो | VIDEO : गोविंद गोयल के बयान पर बवाल, आपस मे भिड़े कांग्रेसी |

टीआई की शर्मनाक करतूत, शव को पैर से टटोला जिंदा है या नहीं, वीडियो वायरल

टीकमगढ़। मध्यप्रदेश में एक बार फिर पुलिस की शर्मनाक करतूत सामने आई है।जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें पुलिसकर्मी सड़क हादसे का शिकार हुए युवक के शव को पैर से हिलाकर देख रहा है कि वह जिंदा है या नही। घटना के बाद से ही पुलिस महकमें में हड़कंप मचा हुआ है।हालांकि वीडियो के सामने आते ही पुलिसकर्मी ने सफाई पेश की है, कि वीडियो का गलत मतलब निकाला जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, घटना टीकमगढ़ जिले के चोरटानगा तिराहे की है, जहां सोमवार-मंगलवार रात की दरमियान शादी का कार्ड बांटने जा रहे बाइक सवार दो युवकों को एक अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी, जिसके चलते दोनों ने मौके पर ही दम तोड दिया। सुबह जब लोगों ने सड़क पर शव देखे तो पुलिस को खबर की। तभी मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी बैजनाथ शर्मा ने युवकों को पैर से टटोला कि वे जिंदा है या मर गए। वहीं मौजूद एक शख्स ने टीआई की इस हरकत का वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वीडियो के वायरल होते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। 

मामले के तूल पकड़ते ही टीआई ने मीडिया के सामने सफाई पेश की है कि वे शव को पैर नही मार रहे थे बल्कि शव के पास किसी वाहन के निशान थे जिसे वे पास खड़े पुलिसकर्मियों को बता रहे थे। वीडियो का गलत मतलब निकाला  जा रहा है।

पुलिस के अनुसार मृतकों की शिनाख्त मूलचंद चढार निवासी बुधवाहा तथा पवन चढार निवासी कारी टोरन मडावरा जिला ललितपुर के रूप में की गई।



  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...