Breaking News
स्वास्थ्य विभाग में मंत्री का आदेश रद्दी की टोकरी में | मोदी सरकार के 4 साल : बैलगाड़ी, ठेला अैर साइकिल पर सवार होकर कांग्रेस ने मनाया 'विश्वासघात दिवस' | मैं सेवा की ऐसी लकीर खींचूंगा, जिसे मेरे मरने के बाद भी मिटाया न जा सकेगा : शिवराज | पुलिसवाले के दोस्त ने युवतियों से की छेड़छाड़, चप्पलों से हुई पिटाई, खाकी पर उठे सवाल | बैतूल में आज एक और किसान ने की आत्महत्या, सड़क पर शव रख ग्रामीणों ने किया चक्काजाम | MP : मोदी सरकार के चार साल, कांग्रेस मना रही 'विश्वासघात' दिवस | विश्वासघात दिवस : कांग्रेस नेता ने गिनाई मोदी सरकार की 5 नाकामियां | VIDEO : कंटेनर से जा भिड़ा पायलेटिंग वाहन, बाल-बाल बचे स्वास्थ्य मंत्री, 3 पुलिसकर्मी घायल | VIDEO : विधायक ने 'हमसफ़र' को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना, पहले दिन यात्री दिखें उत्साहित | 6 जून से पहले जिलों में जाकर किसानों को मनाएंगे मुख्यमंत्री  |

VIDEO : बिहार की तर्ज पर एमपी में भी हावी नकल माफिया, मोटी रकम लेकर किया जा रहा ये काम

टीकमगढ़।

इन दिनों मध्यप्रदेश में भी बिहार की तर्ज पर नकल माफिया हावी होने लगा है। ताजा मामला मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले से सामने आय़ा है। यहां शासकीय शिक्षकों द्वारा खुलेआम नकल कराई जा रही है। हैरानी की बात ये है कि इसकी जानकारी अधिकारियों को होने के बावजूद भी वे अनजान बने हुए है और कुछ बोलने को तैयार नही है।हालांकि मामले के मीडिया में आते ही अधिकारी कार्रवाई की बात कह रहे है। 

दरअसल, इन दिनों जिले के खरगापुर में चल रही भोज मुक्त विश्वविधालय की परीक्षा में खुले आम छात्रों को नकल कराई जा रही है।इसके लिए परिक्षार्थियों को गाईडों के पन्नों की फोटो कॉपी उपलब्ध कराई जा रही है। यहां बीए और बीएससी की परीक्षाओं आयोजित की गई थी, जिसमें परीक्षा  प्रभारी राजेश जैन और केन्द्राध्यक्ष डी.एस.मार्को की मिलीभगत से परीक्षार्थियों को नकल कराई जा रही थी। नकल का पूरा प्रकरण कैमरे में कैद हुआ है। इस कार्य के लिये यहां परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों से मोटी रकम लेकर नकल माफिया पास कराने तक की पूरी जिम्मेदारी लेते है, वहीं नकल माफिया इस कदर हावी है कि गेट के अंदर किसी भी व्यक्ति को अंदर जाने की इजाजत नही है, और यह कोई पहला मौका नही है पिछली साल भी यहां संचालित परीक्षाओ में नकलं के संबंध में भोज विश्वविद्यालय के कुलपति से शिकायत की गई थी जिसमें जांच टीम ने सेंटर बदलने की बात कही थी लेकिन नकल माफियाओं के आगे प्रशासन नतमस्तक साबित हो रहा हैं और इस वर्ष पुनः केन्द्र बनाकर पूर्व की भांति खुलेआम धडल्ले से नकल कराई जा रही है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...