Breaking News
भाजपा के एक दर्जन से ज्यादा सांसदों को टिकट कटने का खतरा | VIDEO : मुख्यमंत्री के सभास्थल पर भरा पानी, मौके पर पहुंचे अधिकारी | प्रदेश भर में झमाझम बारिश का दौर जारी, नदी-नाले उफने, इन जिलों में भारी वर्षा का अलर्ट | VIDEO : प्रदेश में कई इलाकों में जोरदार बारिश, सड़कों पर भरा पानी, यातायात प्रभावित | मशहूर अभिनेत्री रीता भादुड़ी का निधन, बॉलीवुड में शोक की लहर | कमलनाथ के महाकाल को लिखे पत्र का 'नंदी' ने दिया जवाब, चिट्ठी वायरल | भोपाल : एमपी नगर की बिल्डिंग में भीषण आग, मौके पर दमकल | जेल की हवा खाने वाली 'भांजियों' को नहीं मिलेगी ऊंचाई में छूट! | कैबिनेट बैठक, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | आईएएस दीपाली रस्तोगी का नया फरमान फिर चर्चाओं में.. |

INDIA के इस गांव में रहते है करोड़पति ही करोड़पति, एशिया के सबसे अमीर गांवों में हुआ शुमार

नई दिल्ली।

आज हम आपको ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे है, जिसमें सभी लोग करोड़पति है।जिसमें हर परिवार के पास कम से कम एक करोड़ तो जरुर है।इस गांव का नाम बोमजा है, जो अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में है।इनके करोड़पति बनने के पीछे भी एक कहानी है।

दरअसल,सरकार द्वारा अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले के गांव बोमजा में भारतीय सेना का गैरिसन बनाने के लिए ज़मीनों का अधिग्रहण किया गया था, जिसकी एवज में गांव के रहने वालों को मुआवज़ा वितरित किया गया।यह मुआवजा प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू द्वारा 31 जमींदारों को दिया गया है। सीएम ने जमींदारों को कुल 40,80,38,400 रुपए मुआवजे के तौर पर दिए है, जिसमें सबसे अधिक मुआवजे की राशि, 6,73,29,925 रुपए रही, जबकि एक अन्य को 2,44,97,886 रुपए की राशि का चेक दिया गया और बाकी बचे अन्य 29 लाभार्थियों को 1,09,03,813 रुपए की राशि का चेक सौंपा गया। इसके बाद इस गांव का हर परिवार करोड़पति हो गया है।

सीएम ने ट्वीट कर दी जानकारी

इस संबंध में सीएम खांडू ने ट्वीट कर जानकारी दी है।उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी राशि वितरण के बाद बोमजा गांव सबसे अमीर गांवों में से एक बन गया होगा।केंद्र की मदद से अरुणाचल प्रदेश तेजी से प्रगति कर रहा है। अरुणाचल को रेल, हवाई मार्ग, डिजिटल और सड़क के जरिए जोड़ने पर भी जोर दिया जा रहा है। उन्होंने लंबे समय से लंबित मुआवजा राशि को मंजूरी देने के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को भी धन्यवाद दिया है।


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...