राहुल के दौरे से पहले दिखी गुटबाजी, यादव ने कहा-'कांग्रेस में सट्टेबाज, दारूबाज लोग' वीडियो वायरल

उज्जैन। मध्य प्रदेश नए फेरबदल के बाद कांग्रेस नई ऊर्जा के साथ चुनावी तैयारियों में जुटी हुई है,  लम्बे समय से सत्ता सुख दूर कांग्रेस वापसी के लिए आतुर है, लेकिन सालों पुरानी गुटबाजी चुनावी साल में भी पार्टी का पीछा नहीं छोड़ रही है और बार बार गुटबाजी खुलकर सामने आ रही है| ऐसा ही एक नया मामला उज्जैन में सामने आया है जहाँ राहुल गांधी के मंदसौर दौरे की तैयारियों को लेकर हो रही बैठक से पहले खुलकर गुटबाजी सामने आई और इसका वीडियो भी वायरल हुआ है| जिसमे अरुण यादव के रिश्तेदार सचिन चेतन यादव ने आरोप लगाया कि कांग्रेस में सट्टेबाज और दारूबाजू का प्रभाव है| सचिन के बयान से बवाल खड़ा हो गया है| हालाकि कोई खुलकर नहीं बोल रहा लेकिन प्रदेश कांग्रेस तक इसकी शिकायत पहुंची है।  सचिन यादव मध्यप्रदेश कांग्रेस के सचिव हैं। रिश्ते में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव के दामाद हैं। 

दरअसल, 6 जून को राहुल गांधी के मंदसौर दौरे को लेकर 25 मई को उज्जैन में एक बैठक हुई थी।  इसमें कांग्रेस के केंद्रीय पर्यवेक्षक राजेश पटेल, प्रदेश सह प्रभारी संजय कपूर, रामनिवास रावत, पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्‌डू व अन्य नेता शामिल हुए थे। बैठक से पूर्व गुटबाजी को लेकर हुए हंगामे का वीडियो मंगलवार को वायरल हुआ। वायरल हुए वीडियो में कांग्रेस नेताओं ने कहा कि अगर कोई राहुल गांधी के नाम पर धोखाधड़ी करेगा तो हम अलग खड़े मिलेंगे। हालांकि नेताओं ने संबंधित नेता का नाम नहीं लिया। वहीं इस वीडियो में सचिन चेतन यादव कह रहे हैं कि राहुल गांधी और पार्टी की ईमानदारी पर हमें कोई शक नहीं है। पर उनके नाम पर धोखेबाजी की जा रही है। हम राहुल गांधीजी के साथ कोई बुरा नहीं होने देना चाहते। आप पैनी नजर से देखिए ऐसे लोगों के साथ कौन लोग खड़े हैं, दारूबाज, सट्‌टेबाज, दारू बेचने वाले....। वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस सकते में है| 

हंगामे को देख संजय कपूर ने समझते हुए कहा कि 6 तारीख का आयोजन सफल बनाना है। बाकी मसले मिल बैठकर सुलझा लेंगे। यह आयोजन किसी एक का नहीं बल्कि आपका आयोजन है| राष्ट्रीय अध्यक्ष को यह नहीं लगे कि कोई ग्रुप आया तो कोई नहीं। इस पर कांग्रेस नेताओं ने ताली बजाकर उनकी बात स्वीकारी, नाराज कार्यकर्ताओं के आक्रोश के बीच जीतू पटवारी हस्तक्षेप करते नजर आये|