Breaking News
कांग्रेसी विधायक ने मर्यादाएं की तार-तार | विधानसभा चुनाव के लिए 'आप' ने जारी की पांचवी लिस्ट, यह होंगे प्रत्याशी | CM की PC: केरल बाढ पीड़ितों को 10 करोड़ की आर्थिक सहायता, अटल जी को लेकर भी कई ऐलान | भितरघात की चिंता: दावेदारों से भरवाए शपथ पत्र, 'टिकट नहीं मिली तो भी पार्टी हित में काम करूंगा' | राहुल गांधी का ऐलान- केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए 1 महीने की सैलरी देंगे कांग्रेस के सांसद-विधायक | MP : इन दो महिला आईएएस के निशाने पर 'भ्रष्ट-लापरवाह' अधिकारी | MR.बैचलर बनकर हाईप्रोफाइल लड़कियों को निशाना बनाता था लुटेरा दूल्हा, 4 राज्यों में थी तलाश | पुलिस को पीटने वाले थाने से ससम्मान विदा, नशे में धुत लड़कियों ने हाईवे पर मचाया था उत्पात | Asian Games 2018 : आज से होगा एशियन गेम्स का रंगारंग आगाज, इतिहास रचने को तैयार भारत | दो सांसदों की चिट्ठी के बीच अटकी शिप्रा एक्सप्रेस! |

अन्नदाता के लिये भाजपा नेता की ये कैसी भाषा, देखें वीडियो

उज्जैन।

चुनावी साल में बीजेपी नेताओं का बड़बोलापन मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार की किरकिरी करा रहा है एक तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूरी बीजेपी सरकार इस प्रयास में लगी है कि कैसे किसानों के असंतोष को कम किया जाए ।1 जून से 10 जून तक होने वाले किसान आंदोलन को कैसे शांत कर भाजपा के पक्ष में माहौल बनाया जाए। वहीं दूसरी और पार्टी के ही कुछ लोग मुख्यमंत्री की मंशा पर पानी फिरता नजर आ रहे हैं। उज्जैन जिले के भारतीय किसान मोर्चा के मंत्री  हाकम सिंह आंजना का  वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह किसानों को गाली देते नजर आ रहे हैं।उन्होंने किसानों को चोर और हरामी करार दिया है।साथ ही कहा है कि शिवराज चौहान ने किसानों के लिए बहुत कुछ किया है, उतना तो आज तक किसी सरकार या मुख्यमंत्री ने भी नही किया है।किसान चोर है, झूठ बोलते है।किसानों को जूते मारना चाहिए किसान जूत खाने के ही लायक है। हम सीएम के साथ हैं। 1 जून को किसान क्या कर लेंगे। जय श्री महाकाल कहकर मोर्चा के मंत्री आंजना ने अपनी बात खत्म कर दी। 


वीडियो के बाद से ही राजनीति शुरु हो गई है। विपक्ष इस वीडियो और मंत्री के व्यवहार की कड़ी निंदा कर रहा है।काफी अभद्र भाषा का प्रयोग इस वीडियो में किया गया है जो आने वाले समय में बीजेपी के लिए मुसीबत का सबब बन सकता है।बताया जा रहा है कि भाजपा किसान मोर्चा जिला ग्रामीण द्वारा इस अनर्गल बयान के लिए नोटिस भेजा गया है।जल्द निष्कासन की कार्रवाई भी की जा सकती है।

वीडियो के वायरल होते ही किसानों की प्रतिक्रियाएं भी सामने आने लगी है। इस वीडियो के बाद किसानों में सरकार और उनके मंत्रियों के प्रति भारी आक्रोश है और वे मंत्री द्वारा प्रयोग की जा रही इस भाषा की कड़ी निंदा कर रहे है।वही मंत्री के इस बड़बोलेपन का खमियाजा शिवराज सरकार को चुनावी साल में बड़ा नुकसान करा सकती है।

अरुण यादव ने की कड़ी निंदा

कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव ने ट्वीट कर भाजपा नेता के इस बयान की कड़ी निंदा की है। उन्होंने ट्वीटर के माध्यम से लिखा है कि किसान सबसे ज्यादा बेईमान जाति हो गई है,  खुलेआम चोरी और भ्रष्टाचार कर रहे है। इन्हें मारो। ऐसी सोच है भाजपा और उनके नेताओं के किसानों के बारे में। कथित किसानपुत्र मुख्यमंत्री शिवराज जी इस पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त करने की कृपा करेंगें। 


  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...