कर्मचारी से रिश्वत मांग रहा था सिविल सर्जन, लोकायुक्त ने रंगेहाथों धरा

उमरिया।

मध्यप्रदेश के उमरिया जिले में लोकायुक्त ने बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने यहां एक सिविल सर्जन को अपने ही कर्मचारी से 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई रीवा लोकायुक्त द्वारा की गई है। आरोप है कि सिविल सर्जन ने कर्मचारी से नौकरी ज्वाइन कराने के एवज मे रिश्वत की मांग की थी। पुलिस ने सिविल सर्जन के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

 जानकारी के मुताबिक संविदा फार्मासिस्ट राज कुमार शुक्ल से सिविल सर्जन ने वेद प्रकाश पटेल ज्वाइन कराने के एवज में रिश्वत मांगी थी। राज कुमार ने इसकी शिकायत रीवा लोकायुक्त पुलिस से की। इसके बाद पुलिस ने योजना बनाई और कर्मचारी को पैसे लेकर सिविल सर्जन के पास भेजा। जैसे ही सर्जन ने पैसे लिए वैसे ही पुलिस ने उसे रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया।