शिक्षकों ने पेश की अनूठी मिसाल, हर महिने सैलरी बचाकर करवाई छात्रा की शादी

विदिशा। 

किसी भी व्यक्ति के जीवन में शिक्षक का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान होता है।इस बात को विदिशा जिले के सरकारी स्कूल के शिक्षक कैलाश आर्य ने अपने संकल्प से सच कर दिखाया है। आर्य ने अपनी महिने की तनख्वाह में से हर माह दो-दो हजार रुपये बचाकर अपने ही स्कूल में पढ़ने वाली एक गरीब छात्रा की शादी करवाई।शिक्षक के इस संकल्प में अन्य शिक्षकों ने भी साथ दिया और आर्थिक मदद की।जहां इस शादी में स्कूली बच्चे औऱ शिक्षक शामिल हुए वही सरकार के कई अफसर और स्थानीय जनप्रतिनिधि भी इस शादी के साक्षी बने।

जानकारी के अनुसार, जिले के पीपरहूठा मे बने शासकीय प्राथमिक स्कूल में एक वंदना नाम की छात्रा पढ़ती है।उसके पिता इसी स्कूल में खाना बनाने का काम करते है। वंदना के पिता ने उसका संबंध एक लड़के से जोड़ दिया । मगर ज्यादा कमाई ना होने के कारण उसकी शादी धूमधाम से नही कर सकते थे। इस बात की खबर जब इसी स्कूल में शिक्षक कैलाश आर्य को लगी तो उन्होंने वंदना की शादी धूमधाम से करने का संकल्प लिया । इसी संकल्प के चलते वे हर महिने अपने वेतन से दो-दो हजार रुपए जमा करते रहे। हालांकि इस नेक पहल में अन्य शिक्षकों ने भी उनका खूब साथ दिया और आर्थिक सहायता की।कैलाश का यह संकल्प आठ फरवरी को पूरा हुआ। तो उन्होंने स्कूल परिसर में ही भव्य मंडप बनाकर वंदना की शादी धूमधाम से करवाई।बल्कि शादी में दिया जाने वाला सारा गृहस्थी का सामान भी उसकी विदाई में दिया है। इस भव्य विवाह समारोह में अनेक प्रशासनिक अधिकारी और जनप्रतिनिधि शामिल हुए।इसके साथ ही स्कूली बच्चों ने भी शादी का खूब मजा उठाया। शादी में आए सभी अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों ने आर्य के साथ-साथ सभी शिक्षकों की इस पहल को खूब सराहा।


"To get the latest news update download tha app"