SPECIAL: हर दिन का एक रंग, हर रंग की एक कहानी

आपने अक्सर सुना होगा कि बुधवार को हरा रंग पहनना चाहिए या गुरूवार को पीला रंग पहनना शुभ होता है। कई लोग हफ्ते में हर दिन खास रंग पहनते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि दिन के हिसाब से ज्योतिषियों द्वारा ये खास रंग पहनने की सलाह क्यों दी जाती है। तो आईये जानते हैं कौन से हैं ये रंग और क्या है इनकी खासियत।

सोमवार का दिन चंद्र देव का दिन माना जाता है और इस दिन वह मुख्य रूप से प्रभावी रहते हैं। इसीलिए सोमवार को सफेद रंग के कपड़े पहनना शुभ माना जाता है, मान्यता है कि इससे कुंडली की चंद्र से जुड़ी बाधाएं दूर होती हैं। ये भी सही बात है कि सफेद रंग मन को शांति प्रदान करने के साथ सकारात्मकता का भी प्रतीक है। इसीलिए कहा जाता है कि अगर कोई व्यक्ति डिप्रेशन या अवसाद से पीड़ित है तो उसे सफेद रंग के कपड़े पहनने से लाभ होगा।

मंगलवार के दिन हनुमान जी का दिन माना जाता है। उन्हें भगवा या केसरी रंग बहुत प्रिय है, इसलिए इस दिन भगवा, केसरी या चैरी रेड या लाल के मिले जुले शेड्स के कपड़े पहने जाते हैं। मान्यता है कि इस रंग को पहनने से सौभाग्य, भीतरी उत्साह और कार्यक्षमता में बढ़ोत्तरी होती है।

बुध ग्रह हरे रंग का होता है और यह दिन बुद्धि के देवता गणेश को समर्पित है। बुध ग्रह सूर्य का सबसे नजदीकी ग्रह है। पौराणिक कथाओं में बुध को चंद्रमा और रोहिणी का पुत्र दर्शाया गया है, जो अथर्ववेद का महान ज्ञाता है। इसीलिए माना जाता है कि अगर बुधवार को हरे रंग के वस्त्र पहने जाएं तो यह लाभकारी साबित हो सकता है। इससे जीवन में शांति और संपन्नता आती है।

गुरुवार या बृहस्पतिवार बृहस्पति का दिन है और बृहस्पति को सभी ग्रहों में गुरु का दर्जा दिया गया है। बृहस्पति भाग्य, संपन्नता, धन और संतान के कारक है। इन्हें प्रसन्न रखने के लिए विशेष तौर पर पीले वस्त्र धारण करने की मान्यता है। यूं भी माना जाता है कि पीला रंग पसंद करने वाला व्यक्ति काफी मिलनसार, सामाजिक प्रवृत्ति का व धैर्यवान होता है।

शुक्रवार को देवी मां का दिन माना जाता है जो सर्वव्यापी जगतजननी है। साथ ही इस दिन की कहानी दैत्यों के शिक्षक और असुरों के गुरु शुक्र से भी जुड़ी है। देवी मां को हम हमेशा लाल या गुलाबी वस्त्रों में सजा हुआ देखते हैं। वहीं शुक्र देव को भी सफेद रंग अत्यधिक प्रिय है। इसलिए इस दिन गुलाबी और सफेद जैसे सौम्य रंग पहने की सलाह दी जाती है।

शनिदेव से भला कौन नहीं घबराता, कहते हैं कि यदि शनिदेव प्रसन्न हो जाएं तो व्यक्ति का भाग्य खुल जाता है किंतु वो रूष्ट हो जाए तो फिर जीवन में समस्याओं का अंबार लग जाता है। शनिदेव को न्याय का देवता भी कहा जाता है और ये काले रंग के हैं। ज्योतिष के अनुसार उन्हें काला, भूरा, नीला जैसे गहरे रंग बहुत पसंद हैं। शनि देव की कृपा प्राप्त करने के लिए शनिवार के दिन नीले, भूरे आदि गहरे रंग के कपड़े पहनने को कहा जाता है।

रवि सूर्य को कहते हैं और रविवार का दिन भगवान सूर्य को समर्पित है। सूर्य आत्मविश्वास और ऊर्जा का भी प्रतीक है इसलिए इस दिन लाल, सुनहरा और संतरी जैसे खिला हुआ रंग पहनने की पहनने की सलाह दी जाती है।

"To get the latest news update download tha app"