शादी को लेकर अनोखी प्रथा, दूल्हा-दुल्हन के Toilet जाने पर पाबंदी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शादी को लेकर हर धर्म और समाज में अलग अलग रीति रिवाज होते हैं। इसी तरह अलग अलग देशों में भी शादी की कई रस्में होती हैं, जो अपने आप में अनूठी होती हैं। लेकिन आप अंदाजा लगा सकते हैं कि शादी का टॉयलेट (Toilet) से क्या संबंध है। जैसे चीन की बात करें तो कुछ समुदायों में शादी से पहले दुल्हन को रोना पड़ता है, इसे वहां शुभ माना जाता है। इसी तरह डेनमार्क में दूल्हे के दोस्त नाश्ते के बाद उसके जूते उतारकर मोजे के किनारे काट देते हैं। मान्यता है कि ऐसा करने से पति कभी पत्नी को सोता हुए छोड़कर किसी अन्य स्त्री के पास नहीं जाता है। अब चलते हैं इसके Toilet  कनेक्शन की ओर।

ये भी देखिये – मगरमच्छ ने Truck पर किया हमला, एक ही वार में हुआ ये हाल, देखिये वीडियो

ऐसी ही एक अजीबोगरीब प्रथा के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं। इंडोनेशिया के एक समुदाय में दूल्हा-दुल्हन के टॉयलेट (Toilet) जाने पर पाबंदी है। ये पाबंदी भी कुछ घंटों की नहीं, बल्कि पूरे तीन दिन की है। इस रोक रिवाज को वहां की टीडॉन्ग बिरादरी में बहुत संजीदगी से निभाया जाता है। माना जाता है कि शादी पवित्र कर्म है और टॉयलेट में गंदगी होती है। टॉयलेट जाने से दूल्हा-दुल्हन की पवित्रता भंग होगी और इसे वहां बुरा शगुन माना जाता है। इसलिए पूरे तीन दिन तक वर-वधू के टॉयलेट जाने पर रोक रहती है।

इस रिवाज के पीछे दूल्हा-दुल्हन को अशुद्धि से बचाना है। माना जाता है कि टॉयलेट का इस्तेमाल कई लोग करते हैं। वहां शरीर की गंदगी बाहर निकलती है इसलिए नकारात्मक शक्तियों का वास होता है। ऐसे में नवविवाहित दंपत्ति टॉयलेट का इस्तेमाल करेंगे तो टीडॉन्ग समुदाय की मान्यतानुसार उनका रिश्ता खतरे में पड़ सकता है। उसमें दरारा आ सकती है और दोनों के बीच तल्खी पैदा हो सकती है। इसी संभावित खतरे से बचाने के लिए पूरे तीन दिन कर दूल्हा-दुल्हन को टॉयलेट से दूर रखा जाता है।

ये भी देखिये – US Navy ने गाया शाहरूख की मशहूर फिल्म का गाना, दुनिया भर में हो रही तारीफ