MPPSC में तीन अंको से पिछड़े तो हालातों ने इस नेता को बना दिया विधायक

9577
Backed-by-three-points-in-MPPSC

भोपाल। सोमवार को मध्यप्रदेश की नवगठित 15वीं विधानसभा के सत्र की शुरुआत हुई। प्रोटेम स्पीकर दीपक सक्सेना ने पहले दिन 227 विधायकों को शपथ दिलाई।अवकाश के चलते भाजपा विधायक मालिनी गौड़ और यशोधरा राजे सिंधिया शपथ नही ले पाई, हालाँकि दोस्सरे दिन उन्होंने शपथ ली।  पहले दिन शपथ लेने वाले 227  विधायक में 90  ऐसे विधायक थे जो पहली बार चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे। लेकिन क्या आपको पता है कि चुनाव जीतने पहले ये विधायक क्या करते थे। आज हम आपको ऐसे ही एक विधायक के बारे में बताने जा रहे है जो चुनाव से पहले ना सिर्फ खुद पढ़ते थे बल्कि बच्चों को भी पढ़ाया करते थे और ये सिलसिला अब भी जारी है।

दरअसल, हम बात कर रहे है खंडवा जिले की पंधाना विधानसभा सीट से विजयी हुए विधायक राम डोंगरे की। जिन्होंने कांग्रेस की छाया मोरे के बीच 22  हजार ज्यादा वोटों से हराया था। राम डोंगरे को 91, 844 वोट मिले थे, वहीं, छाया मोरे 68,094 वोट प्राप्त किए थे। मंगलवार को पहली बार विधायक का चुनाव जीतकर शपथ लेने विधानसभा पहुंचे बीजेपी के राम डोंगरे ने मीडिया से चर्चा के दौरान कही अनुभव बांटे। उन्होंने खुद को एक नेता ना बताकर छात्र बताया। उन्होने कहा कि वे विधायक नही बनने चाहते थे, लेकिन परिस्थितियां ऐसे उत्पन्न हुई कि वे विधायक बन गए। वे तो पीएससी की तैयारी कर रहे थे।


एमपीपीएससी में नही हो पाए चयनित

डोंगरे ने बताया कि वे बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियां करवाते है।वे खुद भी एमपीपीएससी और अन्य प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी कर रहे है। हालांकि हमेशा कुछ अंको से पिछड़ने के कारण एमपीपीएससी में चयनित नही हो पाए। मैने कभी चुनाव लड़ने का नही सोचा लेकिन परिस्थितयां ऐसी सामने आई की चुनाव लड़कर सीधा सदन तक पहुंच गया। डोंगरें ने बताया कि वे शिक्षा और युवाओं से हमेशा से जुड़े रहे है इसके लिए एजुकेशन और मेडिकल सेवा पर उनका ज्यादा फोकस रहेगा।


विधायक बनने के बाद ये जिम्मेदारी निभाउंगा

उन्होंने बताया कि पंधाना में सड़कों की स्थिति ठीक नही। सबसे पहले सड़कों में सुधार करवाएंगें।बिजली और पानी की पर्याप्त सुविधा उपलब्ध करवाएंगें।हाईवे हमारी विधानसभा से होकर निकलता है इसके लिए माइक्रो लेवल इंडस्ट्री सहित लार्ज स्केल की इंडस्ट्रीज को लाने की पूरी कोशिश करुंगा।


अबतक 125  को दिलावा चुके है सरकारी नौकरी

विधायक राम ने बताया कि वे एमपीपीएससी और एमपी पुलिस की परीक्षाओं की तैयारियां करवाते है। वे बच्चों को नि: शुल्क कोचिंग देते है।अब तक 125  स्टूडेंट्स परीक्षा पास कर सरकारी नौकरियों में जा चुके है।उन्होंने बताया कि वे भी एमपीपीएससी की तैयारी कर चुके है लेकिन हर बार तीन अंक से पीछे रह जाते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here