अब शिवराज ने साधा IAS अधिकारियों पर निशाना

615

भोपाल। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव द्वारा आईएएस अधिकारियों पर फेसबुक के माध्यम से की गई टिप्पणी के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने आईएएस अधिकारियों पर निशाना साधा है । मुरैना जिले के कोलारस में आयोजित एक सभा में उन्होंने कमलनाथ सरकार के शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को आईएएस अधिकारियों का पैसा कमाने का ढोंग बताया है ।

शिवराज ने तंज कसते हुए कहा कि उनकी सरकार में प्रदेश से डकैतों का सफाया हो गया था लेकिन अब पूरे प्रदेश में वसूली के लिए नए डकैत पनप रहे हैं। माफिया के नाम पर एक व्यक्ति का मकान तोड़ दिया जाता है और फिर दूसरों के पास जाकर कहा जाता है कि पैसे दो नहीं तो तुम्हारा भी तोड़ दिया जाएगा ।पूरे प्रदेश में आतंक का राज कायम है। शिवराज ने राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता द्वारा एक बीजेपी कार्यकर्ता ,एक एएसआई और एक पटवारी को चांटा मारने की घटना पर कहा कि लोकतंत्र में एक आम आदमी की इज्जत कलेक्टर के बराबर है और कलेक्टर को कोई हक नहीं कि किसी व्यक्ति को चांटा मार दे। बावजूद इसके सरकार ने अब तक कलेक्टर के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की है ।आईएएस अधिकारियों को समझना चाहिए कि उन्हें सारी सुविधाएं जनता की गाढ़ी कमाई और पसीने से मिलती है। शिवराज ने आगे कहा कि ईमानदार अधिकारियों का स्वागत करते हैं लेकिन आम आदमी का अपमान उनके राज में कभी हुआ ना वह होने देंगे ।शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पूरे प्रदेश में आतंक का राज है और सरकार ट्रांसफर पोस्टिंग के माध्यम से वसूली में लगी है ।शिवराज ने सरकार को तमाचा मार सरकार बताया ।उन्होंने कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि वे क्षेत्र में कभी जाना पसंद नहीं करते और जब उनसे कहा गया तो उन्होंने कहा कि वह वल्लभ भवन में ही ठीक हैं। शिवराज ने कमलनाथ के लिए कहा “तेरी प्यारी प्यारी सूरत को किसी की नजर ना लगे।” इस सभा में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद थे और इस सभा के माध्यम से जौरा में होने वाले उप चुनाव का शंखनाद किया गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here