इटारसी, राहुल अग्रवाल। जिले में स्वास्थ्य विभाग 5 हजार से ज्यादा आबादी वाले गांवाें में उप स्वास्थ्य केंद्राें का विस्तार कर रहा है। गांवाें में उपस्वास्थ्य केंद्र बनाए गए हैं। जिले के अलग-अलग ब्लाॅकाें में 19 में से 16 उपस्वास्थ्य केंद्र का निर्माण किया गया है। 3 उप स्वास्थ्य केंद्र का अभी भी काम चल रहा है। एनएचएम की सब इंजीनियर मयूरी जैन ने बताया जिले में गेप असेसमेंट के बाद एेसे गांव जिनकी आबादी 5 हजार से ज्यादा है उन क्षेत्राें में उप स्वास्थ्य केंद्र बनाने स्वीकृत किए गए थे। हमारे जिले में 19 केंद्र बनाने थे। इसमें से अब 16 उपस्वास्थ्य केंद्र बनकर तैयार हाे चुके हैं। डीपीएम दीपक डेहरिया ने बताया कि जिले में उपस्वास्थ्य केंद्राें की संख्या बढ़ी है। पहले 153 उपस्वास्थ्य केंद्र थे अब 172 उपस्वास्थ्य केंद्र हाे गए हैं। इससे ग्रामीणाें काे स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकेगी। इन केंद्राें पर सीएचओ, एएनएम, आशा, सहयाेगी रहेंगी।

इन ब्लाॅकाें में बने केंद्र : बाबई ब्लॉक के जावली में, साेहागपुर के महुआ खेड़ा, बज्जरवाड़ा, पिपरिया ब्लॉक के बीजनवाड़ा, बनखेड़ी के गाेंदलवाडा, पर्राइ ठाकुर, केसला के कीरतपुर, पीपलढाना, कासदा रैयत, माेरपानी, नया जामुनडाेल, घाटली, सिवनीमालवा के लाेधड़ीकला, बिसाेनी कला, काजलपुर में केंद्र बन गए। वहीं रामनगर, मलकाझिरा, सिसरी में उपस्वास्थ्य केंद्र का काम चल रहा है।