युवाओं के लिए राहत की खबर, भारतीय जॉब मार्केट में 57% की बढ़ोतरी

India Job market : साल-दर-साल अधिकांश क्षेत्रों ने IT (138 प्रतिशत) और Hospitality (+82 प्रतिशत) के नेतृत्व में महत्वपूर्ण वार्षिक वृद्धि प्रदर्शित की है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट देश ने कोरोना महामारी (corona pandemic) की भयानकता को पीछे छोड़ते हुए अपनी रफ़्तार पकड़ ली है। इसी बीच युवाओं के लिए बड़ी खबर है, दरअसल नौकरी जॉबस्पीक (jobspeaks) की नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय नौकरी बाजार (India Job Market) ने लगातार तीन महीनों तक रिकॉर्ड तोड़ सफलता बनाए रखा है। देश में रोजगारों में सितंबर के महीने में सालाना आधार पर 57 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

सितंबर में 2,753 से अधिक नौकरी पोस्टिंग (Naukri posting) के साथ यह अब तक का सबसे उच्च स्तर है। Naukri JobSpeak एक मासिक इंडेक्स है, जो महीने दर महीने Naukri.com वेबसाइट पर जॉब लिस्टिंग के आधार पर हायरिंग एक्टिविटी की गणना और रिकॉर्ड करता है। नौकरी जॉबस्पीक का उद्देश्य विभिन्न उद्योगों, शहरों और अनुभव स्तरों में भर्ती गतिविधि को मापना है।

साल-दर-साल अधिकांश क्षेत्रों ने IT (138 प्रतिशत) और Hospitality (+82 प्रतिशत) के नेतृत्व में महत्वपूर्ण वार्षिक वृद्धि प्रदर्शित की है। भारतीय संगठनों के बीच डिजिटल परिवर्तन की हालिया लहर तकनीकी पेशेवरों की मांग जारी रखती है। आईटी-सॉफ्टवेयर / सॉफ्टवेयर सेवा क्षेत्र में साल-दर-साल भर्ती सितंबर 2021 में 138 प्रतिशत बढ़ी है।

सितंबर में महानगरों ने 88 प्रतिशत वार्षिक वृद्धि दर्ज की है, जिसने टियर 2 शहरों को पीछे छोड़ दिया है। आईटी-सॉफ्टवेयर / सॉफ्टवेयर सेवा क्षेत्र की निरंतर सकारात्मक वृद्धि ने प्रमुख आईटी केंद्रों को वार्षिक विकास चार्ट में अन्य शहरों से बेहतर प्रदर्शन करने में सक्षम बनाया है।

Read More: प्रेम विवाह करने कोर्ट पहुंची बहनों और उनकें प्रेमियों को भाइयों ने जमकर पीटा, सरेराह किया लहूलुहान

बेंगलुरू (133 फीसदी), हैदराबाद (110 फीसदी), पुणे (95 फीसदी) और चेन्नई (85 फीसदी) ने सितंबर में साल-दर-साल सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की। दिल्ली/एनसीआर (72 फीसदी) में भी हायरिंग गतिविधि सकारात्मक रही, जबकि मुंबई और कोलकाता दोनों में 60 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई। द्वितीय श्रेणी के शहरों में, अहमदाबाद (82 प्रतिशत) और कोयंबटूर (46 प्रतिशत) ने सबसे अधिक वार्षिक वृद्धि दर्ज की, उसके बाद वडोदरा (33 प्रतिशत) और कोच्चि (19 प्रतिशत) का स्थान रहा है।

Hospitality (82 प्रतिशत) और Retail (+70 प्रतिशत) जैसे क्षेत्र जो महामारी से सबसे अधिक प्रभावित थे, सितंबर में देश भर में कई होटलों और भौतिक स्टोर आउटलेट के साथ धीरे-धीरे फिर से खुलने के साथ महत्वपूर्ण वृद्धि देखी गई ह। सितंबर, 2020 की तुलना में शिक्षा (53 फीसदी), बैंकिंग/वित्तीय सेवाओं (43 फीसदी) और दूरसंचार/आईएसपी (+37 फीसदी) क्षेत्रों में भी हायरिंग गतिविधि बढ़ी है।

पिछले साल की तुलना में सितंबर में सभी एक्सपीरियंस बैंड्स में हायरिंग में वृद्धि हुई है। जिसका मुख्य कारण हायरिंग मार्केट के समग्र सकारात्मक प्रदर्शन है। इस अवधि के दौरान, 8-12 वर्ष (75 प्रतिशत) वर्ग के वरिष्ठ पेशेवरों की मांग में अधिकतम वृद्धि देखी गई, इसके बाद 0-3 वर्ष (54 प्रतिशत), 4-7 वर्ष (65 प्रतिशत), 13-16 वर्ष (57 प्रतिशत) और 16 वर्ष से अधिक (38 प्रतिशत) वृद्धि देखी गई है। ज्ञात हो कि महामारी के कारण इन बाजारों को बड़ा झटका लगा था।

नौकरी जॉबस्पीक की रिपोर्ट के अनुसार, अगस्त के दौरान 2,673 की तुलना में महीने-दर-महीने जॉब पोस्टिंग में 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई। Naukri.com के चीफ बिजनेस ऑफिसर पवन गोयल ने कहा भारत में हायरिंग में पहले कभी गतिविधि नहीं देखी गई है। IT पेशेवरों की मांग के कारण त्योहारी सीजन की शुरुआत में उद्योगों को ठीक होते देखना वास्तव में खुशी की बात है। बाजार में 57 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई, जो बाजार के बाद की महामारी के मजबूत पुनरुद्धार का संकेत देती है।