voting-in-bhopal-lok-sabha-seat

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने भोपाल में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए 10 दिन के लॉक डाउन की घोषण की थी, वहीं इस लॉक डाउन के बीच 30 जुलाई से लेकर 4 अगस्त तक बजार खुलने की खबर सामने आई थी, जिसको बुधवार को भोपाल के पूर्व महापौर अलोक शर्मा ने फर्जी बताया है।

अलोक शर्मा ने बताया कि मैंने ऐसा कोई बयान जारी नहीं किया है, जिसमें बाजार खोलने की अनुमति दी हो। आगे उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से कर दी है। जल्ह ही ऐसी अफवाह जारी करने वाले के खिलाफ FIR दर्ज कर ली जाएगी।

पुर्व मेयर आलोक शर्मा के नाम से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा संदेश

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि आज आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 30 जुलाई से 4 अगस्त तक भोपाल शहर के सभी बाजारों को पूरी तरह से खोल दिया जाएगा। वहीं आपदा प्रबंधन समूह की सबसे अपील है कि जो कोई भी व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर, शुगर आदि गंभीर बीमारियों के मरीज हैं वो बाहर ना निकले।

आगे पूर्व मेयर ने कहा कि शहर के अलग-अलग बाजारों के संगठनों ने खुद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने और खरीददारों को मास्क लगवाने की जवाबदारी ली है। वहीं व्यापारियों से कहा गया है कि जो भी ग्राहक बिना मास्क के सामान खरीदने आएं उन्हें सामान नहीं दिया जाए। शर्मा ने कहा कि अब भोपाल की जनता को अपनी जवाबदारी निभाना है कि वह इस काल में कितनी सतर्कता रख सकते है।

 

भोपाल में बाजार खोले जाने की खबर को पूर्व महापौर ने बताया फर्जी, पुलिस से की शिकायत