अब ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ आसानी से पहुंच सकेंगे मप्र के लोग, स्पेशल ट्रैन का तोहफा

मुख्यमंत्री ने कहा केवड़िया आधुनिक तीर्थ बन गया है। सरदार वल्लभभाई पटेल की स्मृति में निर्मित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से भारतीय रेल ने पूरे देश को जोड़ा है, जिसमें मध्यप्रदेश भी सम्मिलित है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने लाखों श्रद्धालु और पर्यटक केवड़िया जाते हैं। केवल पर्यटक स्थल नहीं, बल्कि प्रेरणास्थल के नाते केवड़िया का विकास हुआ है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue Of Unity) व उससे जुड़े पर्यटन स्थलों को देखने की चाहत रखने वाले पर्यटकों के लिए खुशखबरी है| मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के लोगों को यहां पहुंचना अब और आसान हो गया। इसके लिए मध्य प्रदेश से सीधे ट्रैन शुरू की गई है| रीवा (Rewa) से गुजरात के केवडिया स्टेशन (Kevadia) के बीच आज से साप्ताहिक स्पेशल ट्रेन (Special Train) शुरू की गई है| पीएम मोदी ने सुबह 11 बजे इस ट्रेन को वर्चुअल कार्यक्रम में हरी झंडी दिखाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दाभोई-चंदोद- केवड़िया रेल परियोजना का उद्घाटन कर देश के विभिन्न राज्यों से केवड़िया (गुजरात) के लिए वर्चुअली हरी झंडी दिखाकर 8 ट्रेनों को रवाना किया। इस अवसर पर रीवा से केवड़िया जाने वाली ट्रेन को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। सीएम ने कहा इससे रीवा के साथ-साथ मध्यप्रदेश के विकास को भी गति मिलेगी। आवागमन सुगम होगा और पर्यटन तथा व्यापार के लिए भी नये रास्ते खुलेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा केवड़िया आधुनिक तीर्थ बन गया है। सरदार वल्लभभाई पटेल की स्मृति में निर्मित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से भारतीय रेल ने पूरे देश को जोड़ा है, जिसमें मध्यप्रदेश भी सम्मिलित है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने लाखों श्रद्धालु और पर्यटक केवड़िया जाते हैं। केवल पर्यटक स्थल नहीं, बल्कि प्रेरणास्थल के नाते केवड़िया का विकास हुआ है। मध्यप्रदेश के लोगों विशेषकर विंध्य के लोगों को केवड़िया जाने का सौभाग्य मिलेगा। मैं इसके लिए प्रधानमंत्री जी का अभिनंदन करता हूं।