शराब दुकानों पर नियमों की उड़ाई जा रही धज्जियां, एमआरपी से अधिक की वसूली

सिंगरौली|राघवेन्द्र सिंह गहरवार| सिंगरौली जिले में सरकारी शराब के ठेकेदारो द्वारा आबकारी नियमों की धज्जियां उड़ाते नजर आ रहे है| शराब ठेकेदारों द्वारा एमआरपी से ज्यादा रुपये वसूल कर रहे हैं इसके बावजूद आबकारी विभाग के अधिकारी अनजान बने हुए है| मानो उन्हें इसकी भनक ही न हो, जहां तक आबकारी विभाग के नियम कहता है कि प्रत्येक सरकारी ठेके के बाहर बेची जाने वाली शराब की रेट लिस्ट लगानी होती है। परंतु जिले भर में किसी भी सरकारी शराब के ठेकेदार द्वारा शराब दुकान के बाहर किसी भी प्रकार की रेट लिस्ट नही लगी हुई है।शराब के शौकीन लोग ज्यादा कीमत देकर शराब खरीदने पर मजबूर है गौरतलब है कि ग्राहकों से वसूली जाने वाली अतिरिक्त राशि ठेकेदार के जेब में जाती है।

इतना ही नही शराब ठेकेदार द्वारा अपने गुर्गों के जरिये गांव गांव शराब पहुँचवा कर कुचिया शराब की बिक्री भी धड़ल्ले से कराई जा रही है सिंगरौली जिले मे शायद ही यैसा कोई क्षेत्र या गांव होगा जहां कुचिया शराब न बिकती हो वरना शराब ठेकेदार द्वारा खुद गांव गांव शराब लोगो तक बेचने के लिए पहुंचाई जाती है