संदिग्ध परिस्थितियों में जैन मुनि की मौत, सुसाइड की जताई जा रही है आशंका

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर में आज एक खबर ने जैन समुदाय के लोगो को गमजदा कर दिया। दरअसल, संदिग्ध परिस्थितियों में जैन मुनि आचार्य श्री 108 विमद सागर जी महाराज की मौत हो गई है। प्रारंभिक तौर पर मामला गम्भीर होने के चलते पुलिस भी इस बात की पुष्टि नही कर रही है कि मौत की वजह क्या है। वही जैन मुनि के अचानक दुनिया को छोड़ कर चले जाने का ये मामला किसी बड़े हादसे से उनके अनुयायियों के लिए कम नही है।

जमानत पर जेल से बाहर आए बदमाश की प्रोफाइल और स्टेटस देखकर पुलिस भी रह गई दंग !

मिली जानकारी के मुताबिक इंदौर के परदेशीपुरा थाना क्षेत्र के नंदा नगर में दिगंबर जैन समाज के आचार्य की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में हुई है वही आशंका जताई जा रही है कि मौत की वजह सुसाइड हो सकती है हालांकि पुलिस ने अभी तक इस बात की पुष्टि नही की है। बताया जारहा है कि आचार्य श्री 108 विमद सागर जी ने नंदानगर स्थित मंदिर में फांसी पर झुलते पाये गए है।वही जानकारी ये भी सामने आई है कि चातुर्मास के सिलसिले में आचार्य इंदौर आये हुए थे। इस संगीन मामले की जांच में पुलिस जुटी हुई है। फिलहाल, आचार्य श्री के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है वही पुलिस इस मामले में खुलकर अभी कुछ नही कह पा रही है क्योंकि पूरे मामले में हालात और तथ्यों के आधार पर ही पुलिस जांच कर रही है।