महाराष्ट्र के गृह मंत्री पर लगे आरोप के बाद लक्ष्मण सिंह ने कांग्रेस से समर्थन वापस लेने की कही बात

मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Police Commissioner Parambir Singh) द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख (Home Minister Of Maharashtra Anil Deshmukh) पर गंभीर आरोप लगाए है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। महारष्ट्र (Maharashtra) में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच अब अनिल देशमुख को गृह मंत्री के पद से हटाने की मांगें उठने लग गई है। इसी बीच हमेशा अपने बयानों से कांग्रेस को मुसीबत में डालने वाले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Former Chief Minister Digvijay Singh) के भाई और चाचौड़ा विधानसभा से विधायक लक्ष्मण सिंह (MLA Laxman Singh) एक बार फिर से सुर्खियों में आ गए है। उन्होंने महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बाद सरकार से कांग्रेस का समर्थन वापस लेने की बात कही है। लक्ष्मण सिंह ने ट्वीट कर लिखा है कि, “अगर 100 करोड़ प्रति माह मुंबई पुलिस के माध्यम से महाराष्ट्र के गृह मंत्री वसूल रहे हैं,और अगर यह सत्य है,तो देशमुख “देश”के “मुख” नहीं हो सकते।लगता है”अगाड़ी सरकार “पिछड़ती”जा रही है,कांग्रेस को समर्थन वापस लेना चाहिए।”

दरअसल ,मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Police Commissioner Parambir Singh) द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख (Home Minister Of Maharashtra Anil Deshmukh) पर गंभीर आरोप लगाए है। परमबीर सिंह ने शनिवार को अपने खत में आरोप लगाया कि अनिल देशमुख पुलिस अधिकारियों को अपने आवास पर बुलाया करते हैं और उन्हें बार (Bar), रेस्तरां (Restaurant) और दूसरे जगहों से वसूली का टारगेट देते हैं।

बता दें, लक्ष्मण सिंह पहले भी अपनी साफगोई के लिए अक्सर कांग्रेस के लिए मुसीबत बनते रहे हैं। राहुल गांधी के दस दिन में किसानों के दो लाख रू तक के कर्ज माफी वाले बयान का भी उन्होंने अव्यावहारिक होने की बात कहकर विरोध किया था। कमलनाथ सरकार के सत्ता में रहते भी वे कई बार सरकार के खिलाफ न केवल बयान देते रहे बल्कि अपने क्षेत्र की समस्याओं के लिए तो उन्होंने पदयात्रा तक निकाल दी थी। ऐसे में उनका ताजा बयान गठबंधन की महाराष्ट्र सरकार के ऊपर सीधा आरोप है कि उनके गृह मंत्री कहीं न कहीं विवाद में है।

यह भी पढ़ें…MP Board: 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए एक और सुनहरा मौका, निर्देश जारी