ग्वालियर-भोपाल के बाद अब इंदौर में भी घरों में पढ़ी जायेगी नमाज़

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

मुफ्ती ए मालवा मौलाना नूर उल हक, शहर क़ाज़ी डॉक्टर मोहम्मद इशरत अली, मौलाना अनवार अहमद कादरी, मौलाना अहमद मियां, मुफ्ती साबिर अली और मौलाना आरिफ बरकाती ने बताया कि इस वक़्त पूरी दुनिया बड़ी मुसीबत यानी कोरोना वायरस में मुब्तला है। जिसे वतन-ए-अजीत हिंदुस्तान भी महफूज नहीं है।

लिहाजा तीन हफ्तों के सख्त लॉक डाउन को देखते हुए यह तय किया गया है कि शहर की तमाम मस्जिदों में इमाम के साथ चंद लोग ही नमाज पढ़े। बाकी सभी लोग अपने घरों पर ही नमाज पढ़े। इस बीमारी से बचने का एक ही तरीका है कि हम सोशल डिस्टेंस बनाकर रखे रहें।

तीन हफ्ते के लायक डाउन को देखते हुए सुन्नी अईम्मा कौंसिल इंदौर अहले इंदौर के लिए भी यही हुक्म जारी कर रही है लिहाजा अब मस्जिद में इमाम मोअज्जिन के साथ चंद लोग शरीके जमाअत रहे बाक़ी घरों पर ही नमाज़ अदा करे। इतना ही नही कौंसिल द्वारा तमाम अइम्मा ए किराम अपनी अपनी मस्जिद में ऐलान फरमा दे ये ताकीद भी किया गया।

ग्वालियर-भोपाल के बाद अब इंदौर में भी घरों में पढ़ी जायेगी नमाज़