नाराज पूर्व विधायक की CM से मुलाकात, मांगे 10 करोड़, बोले जनता गुस्सा करेगी तो अफसरों पर उतरेगा

ग्वालियर ।अतुल सक्सेना

अपने विधानसभा क्षेत्र में अमृत योजना में तहत चल रहे कार्यों में निगम अफसरों की लापरवाही से नाराज होकर बैठक छोड़कर जाने वाले पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर अपनी समस्या उनके सामने रखी। पूर्व विधायक ने विकास कार्यों के लिए CM से 10 करोड़ रुपये की मांग की।

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल को एक बार फिर ग्वालियर पूर्व विधानसभा से चुनाव मैदान में उतरना है और यही वजह है कि उन्हें अपने क्षेत्र में विकास कार्यों की चिंता है। अमृत योजना के कामों में मिल रही शिकायतों के बाद पिछले दिनों उन्होंने नगर निगम अफसरों के साथ बैठक की थी लेकिन काम नहीं हो पाने के अफसरों के तर्कों से नाराज पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल बैठक बीच में छोड़कर चले गए थे और कहा था कि इस विषय में मुख्यमंत्री से बात करेंगे।

सोमवार को जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ग्वालियर में अल्प प्रवास पर आये तो मुन्नालाल गोयल ने उनसे एयर पोर्ट पर मुलाकात की और कहा कि मेरे क्षेत्र में सड़कों की हालत बहुत खराब है। अमृत योजना के तहत चल रहे काम अधूरे पड़े हैं जिसके कारण क्षेत्र में 50 से 60 सड़कें खुदी हुई पड़ी है और बारिश में बैठ गई। नगर निगम के अफसर पैसा नहीं होने की बात कर रहे हैं। वे पांच से सात करोड़ खर्च की बात का रहे हैं इसलिए मेरी विधानसभा में सड़कों की स्थिति सुधारने के लिए 10 करोड़ रुपये स्वीकृत किये जाये। पूर्व विधायक के मुताबिक मुख्यमंत्री ने मौके पर मौजूद नगर निगम आयुक्त संदीप माकिन को प्रस्ताव बनाकर भेजने के लिए कहा है। जैसे ही प्रस्ताव जायेगा, राशि स्वीकृत हो जायेगी। मीडिया से बात करते हुए मुन्नालाल गोयल ने कहा कि हमें क्षेत्र की जनता नगर निगम को हाउस टैक्स, सफाई टैक्स सहित कई टैक्स देती है इसलिए क्षेत्र में सफाई, सीवर, पानी, सड़क के काम करना नगर निगम का काम है। यदि काम नहीं होंगे तो जनता का गुस्सा हमारे ऊपर उतरेगा और फिर हमारा गुस्सा अफसरों पर निकलेगा। उन्होंने कहा कि हमें चुनाव में उतरना है, क्षेत्र की जनता को जवाब देना है। इसलिए उसके लिए मैं हमेशा प्रयास करता रहूँगा।