नाराज सिंधिया समर्थक पूर्व विधायक बैठक छोड़कर गए, कहा CM से करेंगे शिकायत

ग्वालियर। अतुल सक्सेना| नगर निगम मुख्यालय में अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास कार्यों की बैठक में शामिल होने आये पूर्व विधायक एवं सिंधिया समर्थक नेता मुन्नालाल गोयल बैठक बीच में छोड़कर चले गए। उनका कहना था कि जब जमीन पर काम नहीं हो रहे तो बैठक का क्या लाभ। उन्होंने ये भी कहा कि वे इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से करेंगे।

उपचुनाव में जनता के बीच जाने वाले नेताओं को अपने विधानसभा के विकास कार्यों की चिंता सता रही है। ग्वालियर पूर्व विधानसभा के पूर्व विधायक और सिंधिया समर्थक नेता मुन्नालाल गोयल अपने क्षेत्र के विकास कार्यों की समीक्षा के लिए निगम मुख्यालय में आयोजित बैठक में शामिल होने गए थे। उन्होंने वहाँ मौजूद निगम कमिश्नर संदीप माकिन और इंजीनियरों से कहा कि अमृत योजना के तहत डाली गई सीवर और वाटर लाइन के बाद सड़क क्यों नहीं बन रही, बारिश में जनता इससे दुर्घटना का शिकार हो रही है। लेकिन पूर्व विधायक को संतोषजनक उत्तर नहीं मिलने पर वे बैठक बीच में छोड़कर निकल आये। उन्होंने मीडिया से कहा कि अमृत योजना के तहत काम कर रहे ठेकेदारों के साथ एग्रीमेंट है कि लाइन डालने के बाद उन्हें सड़क पहले जैसी करके देनी है लेकिन अफसरों की लापरवाही और मनमानी के कारण काम नहीं हो रहे और जनता परेशान है।

बैठक बीच में छोड़कर आने के सवाल पर पूर्व विधायक ने कहा कि जमीन पर जब काम ही नहीं हो रहे तो दो दो घंटे बैठक कर समय क्यों बर्बाद किया जाए। क्या इसकी शिकायत करेंगे इस सवाल के जवाब में पूर्व विधायक ने कहा कि मुख्यमंत्री से मैं निश्चित इसकी चर्चा करूँगा। उन्होंने कहा कि दो तीन महीने हो गए सकडें खराब हैं जनता की नाराजगी हमें झेलनी होगी। काम तो नगर निगम को ही करना है।

उधर निगम कमिश्नर संदीप माकिन ने कहा कि ये कोईआधिकारिक बैठक नहीं थी वे कई दिनों से क्षेत्र के विकास कार्यों पर चर्चा करना चाहते थे तो मैंने इंजीनियर्स बुला लिए थे। काम नहीं होने से नाराजहोकर बैठक बीच में छोड़कर जाने के सवाल और कमिश्नर ने कहा कि काम तो हो रहे हैं लेकिन हम सबकी प्राथमिकता का ध्यान नहीं रख सकते। उन्होंने कहा कि पानी या सीवर की लाइन डालनी है तो पहले मिलान करेंगे फिर सड़क बनाएंगे। ये तो संभव नहीं है नहीं है कि हम पहले सड़क बना दे और फिर मिलान करें। इसमें हमारा नुकसान होता है। पूर्व विधायक द्वारा मुख्यमंत्री से शिकायत करने की बात पर कमिश्नर ने कहा कि मैं अपनी बात रख सकता हूँ और कुछ नहीं कह सकता।