एंटी माफिया अभियान: कांग्रेस नेता के कब्जे से मुक्त कराई, 3 करोड़ की शासकीय भूमि

मुक्त कराई गई जमीन की कीमत करीब 3 करोड़ रुपये बताई गई है। प्रशासन ने इस मामले में विश्वविद्यालय थाने में साहब सिंह गुर्जर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। एंटी माफिया अभियान (Anti mafia campaign) के अंतर्गत प्रदेश में भूमाफिया (Land Mafia) के खिलाफ कार्रवाई जारी है। इसी क्रम में आज ग्वालियर जिला प्रशासन (Gwalior District Administration) ने कांग्रेस (Congress) नेता के अवैध कब्जे को ढहा दिया। प्रशासन ने कांग्रेस नेता साहब सिंह गुर्जर (Sahab Singh Gurjar) के कब्जे से करीब 3 करोड़ रुपये की शासकीय भूमि मुक्त कराई है और उसके खिलाफ FIR दर्ज करवाई है।

जानकारी के अनुसार वरिष्ठ कांग्रेस नेता साहब सिंह गुर्जर (Sahab Singh Gurjar) ने ओहदपुर में बेशकीमती शासकीय भूमि पर कब्जा कर लिया था जिसे आज एसडीएम  विनोद भार्गव (SDM Vinod Bhargava))के नेतृत्व में प्रशासन के अमले ने मुक्त करा लिया। तहसीलदार कुलदीप दुबे (Tahsildar Kuldeep Dubey) के मुताबिक ओहदपुर की 2 बीघा शासकीय जमीन पर एक आलीशान मकान और 2 बीघा खुली जमीन पर कब्जे को गिराया गया। मुक्त कराई गई जमीन की कीमत करीब 3 करोड़ रुपये बताई गई है। प्रशासन ने इस मामले में विश्वविद्यालय थाने में साहब सिंह गुर्जर (Sahab Singh Gurjar)के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। डीएसपी रतनेश सिंह तोमर ने बताया कि प्रशासन की शिकायत पर साहब सिंह गुर्जर (Sahab Singh Gurjar)के खिलाफ धारा 447, 448 IPC के तहत मामला दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि साहब सिंह गुर्जर (Sahab Singh Gurjar)कभी ज्योतिरादित्य सिंधिया के खास समर्थकों में गिने जाते थे लेकिन सिंधिया के भाजपा में जाने के बाद भी साहब सिंह (Sahab Singh Gurjar) ने कांग्रेस नहीं छोड़ी लेकिन उप चुनाव में उन्होंने बसपा जॉइन कर ली लेकिन थोड़े दिन बाद ही दिग्विजय सिंह और कमलनाथ की मौजूदगी में फिर कांग्रेस जॉइन कर ली। साहब सिंह गुर्जर कांग्रेस के दबंग नेताओं में गिने जाते हैं। पहले भी प्रशासन इनके रिश्तेदारों के अवैध कब्जों को तोड़ चुका है।