अनूपपुर, मो अनीश तिगाला। ‘कहते है न सुरक्षा ही बचाव है’ पर मुख्यमंत्री के अनूपपुर प्रवास के दौरान जिस कदर भीड़ उमड़ी और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई गई और प्रशासन मूक दर्शक बना रहा। उसका खामियाजा अब इस क्षेत्र के लोगों को भुगतना पड़ेगा। हम इसलिए कह रहे है क्योंकि इस कार्यक्रम में मौजूद कई पुलिसकर्मी कोरोना पॉजीटिव पाये गए है। जब सरकार और जिला प्रशासन इस तरह की लापरवाही पर आमादा हो जाये तो आम जनता से क्या उम्मीद की जा सकती है। मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में पिकप,बसों,गाड़ियों में भर भर कर भीड़ जुटाई गई थी, वो चिंताजनक हो गई है क्योंकि पुलिसकर्मियों की रिपोर्ट जिस तरह से पॉजीटिव आई है। वो बड़े अंदेशे के तरफ इशारा मात्र है।

शहडोल पुलिस जोन अन्तर्गत दो जिलों के 12 पुलिस कर्मी कोरोना पाजिटिव हो गये हैं, जिनमें दो थाना प्रभारी हैं। इसका दूसरा चिन्ताजनक पहलू ये भी है कि ये सभी पुलिस कर्मचारी 7 सितंबर को अनूपपुर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम में ड्यूटी कर रहे थे। यह स्पष्ट नहीं कि ये पहले से पाजिटिव थे या अनूपपुर ड्यूटी के बाद पाजिटिव हो गये। बहरहाल ये कब पॉजीटिव हुए इस से बढ़ कर चिंता का विषय यह है कि अगर ये पहले से पॉजीटिव थे तो इनके संपर्क में कार्यक्रम के दौरान कितने लोग आए। या कार्यक्रम के दौरान पॉजीटिव हुए तो ऐसे वो कौन से लोग थे, जिनके संपर्क में आने के बाद ये पॉजीटिव आये।ये एक बड़े चिंता का विषय बन गया है क्योंकि जिस कदर भीड़ उमड़ी थी ।कोरोना कहीं प्रसाद की तरह बंट न गया हो।

मामले से जुडे विशेष सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अनूपपुर भ्रमण उपरांत सात सितंबर को ड्यूटी मे लगे डिण्डोरी तथा शहडोल के पुलिस अधिकारियों की कोविड टेस्ट मे डिण्डोरी जिले के शहपुरा से 5, करंजिया से 3, गाडासरई 2 , समनापुर ,डिण्डोरी कोतवाली में 1-1 एवं शहडोल जिले के दो थाना प्रभारियों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। अनूपपुर जिले का पूरा अमला ड्यूटी में था।  उनकी रिपोर्ट आना शेष है। यह कार्यक्रम में शामिल सभी राजनैतिक पदाधिकारियों,पत्रकारों, अधिकारी- कर्मचारियों तथा आम नागरिकों के स्वास्थ्य के लिये चिन्ताजनक सूचना है। आने वाले कुछ दिन विशेष सतर्कता के हैं। सभी को कोविड से बचाव से जुडे गाईड लाईन का पालन सख्ती से करना होगा।