अभेद किले में बदला भोपाल, कई स्थानों पर बैरिकेडिंग, 2000 पुलिसकर्मियों की तैनाती

जहां 6 आउटर बैरिकेडिंग के साथ ही 157 नए स्थान पर फिक्स्ड बैरिकेडिंग की गई है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल (bhopal) में कोरोना (corona) से हालत बिगड़ती जा रही है। जिसके बाद राजधानी में कोरोना कर्फ्यू (corona curfew) लागू किया गया है। वहीं संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए अब बैरिकेडिंग (Barricading) की व्यवस्था की जा रही है। कोरोना कर्फ्यू को लेकर पुलिस (police) भी धीरे-धीरे अब सख्त हो रही है।

दरअसल राजधानी में 2000 पुलिसकर्मी की तैनाती की गई है। वही बड़ी संख्या में वाहनों के लिए खुले होने वाले रास्ते को बंद कर दिया गया है। इसके अलावा कोरोना कर्फ्यू को ध्यान में रखकर पुलिस ने तीन चरण में बैरिकेडिंग की है। जहां 6 आउटर बैरिकेडिंग के साथ ही 157 नए स्थान पर फिक्स्ड बैरिकेडिंग की गई है।

मुख्य रास्तों को खुला छोड़ा गया है जबकि वैकल्पिक रास्ते बंद कर दिए गए हैं। 22 स्थानों पर मध्य बैरिकेडिंग की गई है जबकि 135 स्थानों पर अंदरूनी बैरिकेडिंग से आवागमन रोका जा रहा है। इसके अलावा ज्योति चौराहे से लेकर प्रेस काम्प्लेक्स तक के रास्ते को बंद रखा गया है। वहीं रचना नगर अंडर ब्रिज को पूरी तरह से बंद रखा गया। बोर्ड ऑफिस से गुप्त चौराहे तक रास्ता भी पूरी तरह से बंद है। राज भवन के सामने भी दोनों रास्ते पर बैरिकेडिंग की गई है।

Read More: मध्य प्रदेश समेत इन राज्यों में कृषि मंत्रालय की नई पहल, शुरु होगी ‘डिजिटल’ खेती

इस मामले में पुलिस प्रशासन का कहना है कि भोपाल में टोटल लॉकडाउन की स्थिति है। आमजनों को घर में रहना होगा इसके लिए पुलिस द्वारा सख्ती की जा रही है। लोग बिना काम भी फालतू सड़क पर निकल रहे हैं। जिसके बाद ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए रास्ते को वन-वे किया गया है। हालांकि मुख्य रास्ते सभी तरफ से खुले रखे हैं।

इससे पहले भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया ने साफ कहा है कि सोशल मीडिया पर किसी तरह की भ्रामक जानकारी फैलाने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। कोरोना को लेकर किसी भी तरह की आपत्तिजनक खबर या आम जनता को परेशान करने वाली खबरों पर सख्त कार्रवाई होगी।