त्योहारों के मद्देनजर भोपाल कलेक्टर ने अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

देश में त्योहारों का मौसम शुरू हो गया है लेकिन इसके साथ कोरोना संक्रमण(Corona infection) की रफ्तार भी तेज है। देश के साथ मध्यप्रदेश(Madhyapradesh) में भी आए दिन संक्रमण(infection) के कई मामले सामने आ रहे हैं। जिसके बाद राजधानी भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया(Collector of Bhopal Avinash Lavania) ने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने सभी त्योहारों को देखते हुए आगामी दिनों में जिले में पूर्व से जारी प्रतिबंध(Pre-issued restrictions) को शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित करवाने के आदेश जारी किए हैं।

दरअसल शनिवार को गणेश चतुर्थी और आगामी दिनों में मोहर्रम को देखते हुए भोपाल कलेक्टर ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि सभी अनुभाग अधिकारी जिले में पहले से जारी प्रतिबंध का पालन करवाएं। कलेक्टर ने एसडीएम(SDM) को निर्देश देते हुए कहा है कि त्योहार के दृष्टिकोण से पुलिस के साथ अधिकारियों को भ्रमण कर इलाकों की वास्तविक स्थिति का जायजा भी लेना चाहिए। वहीं उन्होंने सख्त आदेश दिए हैं कि जिले में कहीं भी सार्वजनिक स्थल पर धार्मिक और सांस्कृतिक आयोजन ना हो इसका खासा ध्यान रखें। कलेक्टर ने अपने आदेश में साफ कहा है कि जिले में किसी भी तरह के पंडाल और झांकियां नहीं निकलनी चाहिए। संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए कलेक्टर अविनाश लवानिया लगातार जिले में अपनी नजर बनाए हुए हैं।अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कलेक्टर लवानिया ने कहा है कि झाकियां और समारोह निकालने वाले के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाए।

वहीं दूसरी तरफ उन्होंने राजधानी की जनता से अपील की है कि वह घर पर ही रह कर त्योहार मनाए और कोरोना की गाइडलाइन(Guideline) का पालन करें। वही भोपाल में लगातार बारिश से जल जमाव की स्थिति हो गई है। जिसका जायजा लेने के लिए शुक्रवार की रात भोपाल भ्रमण पर भी निकले थे। उन्होंने विभिन्न इलाकों का जायजा लिया और उसे संबंधित निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्पष्ट निर्देश दिए थे। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर मूर्तियों की स्थापना, ताजिए निकाले जाना आदि पूर्ण रूप से प्रतिबंधित हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए घर पर स्थापित प्रतिमाओं आदि का सार्वजनिक स्थलों पर विसर्जन भी प्रतिबंधित रहेगा। विसर्जन के लिए हर वार्ड/क्षेत्र में ‘कलेक्शन पॉइन्ट्स’ बनाए जाएंगे, जहां पूरे सम्मान एवं पवित्रता के साथ गणेश प्रतिमाओं को एकत्रित किया जाएगा। इसके उपरांत स्थानीय निकाय उन्हें विसर्जन स्थलों पर ले जाकर विसर्जित करेंगे। उन्होंने इस संबंध में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस को जिलों को विस्तृत गाइड लाइन जारी करने के निर्देश भी दिए।