लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, स्टिंग ऑपरेशन के जरिए रिश्वत लेते पटवारी रंगे हाथ गिरफ्तार

उज्जैन।

मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचारियों के खिलाफ शिवराज सरकार की मुहिम जारी है। शिवराज सरकार के सत्ता में वापस आते ही भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई ने जोर पकड़ा है। इसी बीच मध्य प्रदेश के उज्जैन से पटवारी की रिश्वत लेने की एक खबर सामने आई है। जिसके बाद उज्जैन लोकायुक्त ने बड़ी कार्रवाई करते हुए पटवारी को रंगे हाथ गिरफ्तार किए हैं।

लोकायुक्त पुलिस के अनुसार उज्जैन के ताजपुरा निवासी किसान अमर सिंह उज्जैन लोकायुक्त पुलिस से शिकायत की थी की विधान नगर में रहने वाले पटवारी इंदर सिंह ले नामांतरण के लिए किसान से करीबन 10,000 रुपए के रिश्वत की मांग की थी। जिसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने पटवारी को रंगे हाथ दबोच ने के लिए प्लान बना कर किसान को पटवारी के पास भेजा। लोकायुक्त ने किसान से पटवारी की बात को रिकॉर्डिंग करने की भी बात कही। जहां मनाने के बाद पटवारी 10000 रुपए की जगह 7000 रुपए पर मान गया और यह सारी घटना किसान द्वारा रिकॉर्ड कर ली गई।

जिसके बाद दूसरे दिन सुबह किसान ने पैसे देने के लिए पटवारी को कलेक्ट्रेट के सामने बुलाया। किसान ने पटवारी को पैसे दिए।जिसके बाद फौरन उज्जैन लोकायुक्त ने पटवारी को रंगे हाथ धर दबोचा। पटवारी पर भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कानूनी कार्रवाई की जा रही है।