बड़ी खबर : Bhupendra Patel होंगे गुजरात के नए मुख्यमंत्री

Bhupendra Patel राज्य के राज्यपाल आचार्य देवव्रत के साथ बैठक में सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे और शपथ लेने की तारीख बाद में तय की जाएगी।

गांधीनगर, डेस्क रिपोर्ट गुजरात (gujrat) के मुख्यमंत्री(CM) विजय रूपाणी और उनके मंत्रिमंडल के बाहर होने के एक दिन बाद गांधीनगर में भाजपा विधायक दल की बैठक चल रही है, जिसमें अगले मुख्यमंत्री पर फैसला लिया गया। भूपेंद्र पटेल (Bhupendra Patel) गुजरात (gujrat) के नए मुख्यमंत्री होंगे।

केंद्रीय पर्यवेक्षकों नरेंद्र सिंह तोमर और प्रह्लाद जोशी और पार्टी महासचिव तरुण चौग की मौजूदगी में रविवार दोपहर राज्य भाजपा विधायकों की बैठक में भूपेंद्र पटेल का नाम तय किया। वह राज्य के राज्यपाल आचार्य देवव्रत के साथ बैठक में सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे और शपथ लेने की तारीख बाद में तय की जाएगी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र पटेल गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में विजय रूपानी का स्थान लेंगे। एक बैठक के बाद उन्हें विधायक दल का नेता चुना गया। भूपेंद्र पटेल को पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल का आश्रय माना जाता है। घाटलोदिया सीट से विधायक अहमदाबाद नगर निगम और अहमदाबाद शहरी विकास प्राधिकरण का हिस्सा थे।

भूपेंद्र पटेल अहमदाबाद नगर निगम की स्थायी समिति के अध्यक्ष और अहमदाबाद शहरी विकास प्राधिकरण (AUDA) के अध्यक्ष भी रहे हैं। वे पहली बार विधायक बने हैं। इससे पहले, उन्होंने अहमदाबाद में नगरपालिका पार्षद के रूप में कार्य किया।

पटेल ने कांग्रेस उम्मीदवार शशिकांत पटेल को हराकर घाटलोदिया निर्वाचन क्षेत्र से 2017 गुजरात विधानसभा चुनाव जीता। विजय रूपाणी के पद से हटने के बाद नए सीएम के नाम को अंतिम रूप देने के लिए भारतीय जनता पार्टी के आलाकमान ने दिन के दौरान बैठक की। भाजपा के केंद्रीय पर्यवेक्षक प्रह्लाद जोशी और नरेंद्र सिंह तोमर गांधीनगर में पार्टी कार्यालय में हुई बैठक का हिस्सा थे। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, नए मुख्यमंत्री के साथ मंत्रिपरिषद के सोमवार को शपथ लेने की संभावना है।

Read More: जबलपुर में डेंगू का कहर जारी, इलाज के दौरान महिला पुलिस आरक्षक की मौत

नए मुख्यमंत्री को 65 वर्षीय रूपाणी द्वारा बिना कोई कारण बताए अचानक अपने पद से इस्तीफा देने के एक दिन बाद चुना गया था। इससे पहले रुपाणी ने कहा था कि मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है क्योंकि गुजरात की विकास यात्रा प्रधानमंत्री नरेंद्र नोडी के मार्गदर्शन और नए नेतृत्व में जारी रहनी चाहिए। भाजपा एक विचारधारा से प्रेरित पार्टी है और वहां कार्यकर्ताओं की भूमिकाएं बदलती रहती हैं।

दिसंबर 2022 में 182 सदस्यीय गुजरात विधानसभा के लिए चुनाव होने हैं।  गुजरात के नए मुख्यमंत्री की घोषणा पर बोलते हुए उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने रविवार को कहा था कि नेता को “लोकप्रिय, मजबूत, अनुभवी और ऐसा होना चाहिए जो सभी के लिए जाना और स्वीकार्य हो।

आज रविवार को तीन बजे विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी जिसमें नए नेता का नाम तय होने थे। इस बैठक में शामिल होने के लिए केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी (Pralhad Joshi) की नियुक्त किया गया है। दोनों नेता अहमदाबाद पहुंचे थे।

इससे पहले बैठक में शामिल होने वाले केंद्रीय पर्यवेक्षक नरेंद्र सिंह तोमर ने रविवार सुबह प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल से मुलाकात की. रूपाणी के शनिवार को इस्तीफा देने के बाद भाजपा ने केंद्रीय मंत्री तोमर और प्रह्लाद जोशी को विधायक दल की बैठक के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। हम इस मुद्दे (नए मुख्यमंत्री) पर और चर्चा करने के लिए यहां आए हैं। हम राज्य के भाजपा नेताओं के साथ इस पर चर्चा करेंगे। जोशी ने कहा था कि मैं गुजरात के नेताओं के साथ विचार-विमर्श करूंगा, फिर केंद्रीय नेतृत्व कोई फैसला करेगा।

बता दें कि रूपाणी पिछले तीन महीनों के दौरान पद छोड़ने वाले भाजपा के तीसरे मुख्यमंत्री हैं। कर्नाटक में, बीएस येदियुरप्पा ने 26 जुलाई को मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया। वहीँ उत्तराखंड में, तीरथ सिंह रावत ने 2 जुलाई को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।