इस सीट पर BJP-कांग्रेस की होगी बड़ी टक्कर, उपचुनाव से पहले बयानबाजी तेज

बीजेपी सांसद

देवास, अमिताभ शुक्ला

उपचुनाव के दौर में देवास जिले की हाटपिप्लिया सीट जहां महत्वपूर्ण सीट बनती जा रही है , वहीं जहां पर अब कई तरह के दावे और वादे भी देखने को मिल रहे हैं साथ ही आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है । ताजा मामला है देवास के किसान कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रम मुकाती ने जहां भारतीय जनता पार्टी पर कई आरोप लगाए और भारतीय जनता पार्टी से लगभग तय हो चुके प्रत्याशी मनोज चौधरी को गद्दार करार दिया ।

साथ ही उन्होंने कहा कि सीट पर खाती समाज का बाहुल्य है और अगर खाती समाज का प्रत्याशी सीट से चुनाव लड़ता है ,तो कांग्रेस को बहुत ज्यादा फायदा इस उपचुनाव में मिलेगा उनका साफ तौर पर कहना है कि इस सीट पर करीब 32 बाजार मतदाता हैं , और वे स्वयं भी खाती समाज से आते हैं अगर उन पर भी पार्टी विश्वास जताती है । तो वह भी इस चुनाव में विजई होंगे । मनोज चौधरी को वे बिल्कुल भी चुनौती नहीं मानते ,क्योंकि उनका कहना है कि मनोज चौधरी जनता के साथ धोखाधड़ी करके भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं ।

मुकाती का कहना है किसानो की समस्या हाट पिपल्या की सीट पर काफी महत्वपूर्ण रहने वाली है , हाटपिप्लिया में किसानों ने जहां आत्महत्या की है । कांग्रेस में प्रत्याशी चयन के सवाल पर भी मुकाती का कहना है की हमारे यहां प्रत्याशी चयन इसबार सर्वे के आधार पर होगा । वहीं किसानों को खाद बीज से लेकर हर चीज के लिए समस्या का सामना करना पड़ रहा है । वहीं तमाम आरोपों दावों और वादों के बीच भारतीय जनता पार्टी का एक ही कहना लगातार सामने निकल कर आ रहा है कि हम नहीं हमारा संगठन चुनाव लड़ेगा हमारा प्रत्याशी कमल का फूल होता है । साथ ही भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि गद्दारी तो कांग्रेस ने किसानों के साथ करी थी , जनता के साथ करी थी ।

जिसका परिणाम हुआ कि ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए और इन 27 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहा है , साथ ही बीजेपी का यह भी कहना है कि हमारा संगठन बूथ लेवल तक काम कर रहा है और हमारे प्रत्याशी भी वही हैं जो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए हैं । यानी कि मनोज चौधरी । कांग्रेस को बीजेपी जहां चुनौती नहीं मान रही है वहीं बीजेपी को कांग्रेस चुनौती नहीं मान रही हाइट काफी महत्वपूर्ण इन शब्दों के बीच बनती जा रही है , वहीं एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने का काम भी जारी है आने वाला वक्त ही बताएगा कि हाटपिपलिया में कौन विजई होता है ।