MP उपचुनाव: उमंग के सहारे दिग्विजय को घेरने की तैयारी में BJP

2103

भोपाल।
पिछली कमलनाथ सरकार (kamalnath sarkar) में पूर्व मंत्री उमंग सिंगार (Former Minister Umang Singar) ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह  (Former Chief Minister Digvijay Singh)पर अवैध रेत-शराब- ट्रांसफर उद्योग और सरकार को ब्लैक मेल करने जैसे तमाम आरोप लगाए थे, इसको लेकर जमकर बवाल भी मचा था। जहां हाईकमान ने दोनों को दिल्ली तलब किया था वही विपक्ष में रही बीजेपी(bjp) ने भी सरकार और कांग्रेस की जमकर घेराबंदी की थी।अब सत्ता में आने के बाद बीजेपी ने इस मुद्दे को आधार बनाकर दिग्विजय औऱ पिछली कमलनाथ सरकार को घेरना शुरु कर दिया है।भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा (bjp mla rameshwar sharma) ने दिग्विजय सिंह पर पूर्व मंत्री सिंगार के आरोपों की सीबीआई जाँच की मांग की है, इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज (cm shivraj singh chouhaan) को पत्र भी लिखा है।

दरअसल, उपचुनाव से पहले बीजेपी कांग्रेस नेताओं को जमकर घेर रही है। खास करके बीजेपी का टारगेट बड़े नेताओं पर है।एक तरफ जहां भिंड में पूर्व विधायक और भाजपा नेता रसाल सिंह ने कांग्रेस सरकार में अपेक्स बैंक में अशोक सिंह को प्रशासक नियुक्त किए जाने को गंभीर आरोप लगाए है। इसके लिए रसाल सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, अपैक्स बैंक के प्रशासक अशोक सिंह सहित अन्य लोगों के खिलाफ FIR दर्ज किए जाने के लिए रविवार काे लहार थाना में आवेदन भी दिया है। वही दूसरी तरफ हुज़ूर विधान सभा से विधायक एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर पूर्व कैबिनेट मंत्री उमंग सिंगार द्वारा दिग्विजय सिंह पर लगाए गए गंभीर आरोपों की सीबीआई जाँच कराएं जाने की मांग की है ।

रामेश्वर ने पत्र में आरोपों को बताया गंभीर

विधायक रामेश्वर शर्मा ने बताया कि पुर्वर्ती कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के वन मंत्री उमंग सिंगार द्वारा 3 सितंबर 2019 को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर अवैध शराब-रेत का धंधा करने, ट्रांसफर उद्योग चलाने एवं सरकार को ब्लैकमेल कर नीति निर्धारण करने जैसे गंभीर आरोप लगाए थे । विधायक शर्मा ने कहा कि उमंग सिंगार के यह आरोप निश्चित रूप से बहुत गंभीर है । जिसकी शिकायत सिंगार ने तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी की थी चूंकि कमलनाथ जी भी उस समय दिग्विजय सिंह द्वारा ब्लैकमेल किये जा रहे थे जिस वजह से उमंग सिंगार के आरोपों की जाँच भी न हो सकी । विधायक शर्मा ने कहा कि अब जब प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा की सरकार है तो पूर्व मंत्री उमंग सिंगार के आरोपों की जाँच होनी चाहिए ।

बडा रसूख रखते है दिग्विजय, सीबीआई करे जाँच

विधायक रामेश्वर शर्मा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है चूंकि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह बड़ा रसूख रखते है इसलिए उमंग सिंगार के आरोपों की सीबीआई अथवा उच्च स्तरीय कमेटी से जाँच होनी चाहिए ।

सोनिया गांधी जी की चुप्पी लूट में मौन समर्थन को करता है इंगित

विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि पूर्व मंत्री उमंग सिंगार ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर लगाये गंभीर आरोपो की शिकायत कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद सोनिया गांधी जी से की थी परंतु उनके द्वारा भी कोई कार्यवाही नही की गयी । शर्मा ने कहा कि एक कैबिनेट मंत्री द्वारा की गयी शिकायत पर सोनिया जी की चुप्पी कही न कही दिग्विजय सिंह के मौन समर्थन को परिलक्षित करता है ।

उमंग प्रदेश हित मे सामने आए शिवराज सरकार उनके साथ है – रामेश्वर शर्मा

विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि पूर्व वन मंत्री उमंग सिंगार ने मध्यप्रदेश के हित में बेबाकी से दिग्विजय सिंह द्वारा की जा रही लूट को जिस तरह उजागर किया था वह वंदनीय है । शर्मा ने कहा कि श्री सिंगार को उनके द्वारा लगाए गए आरोपों पर कार्यवाही के लिए आगे आकर साक्ष्य उपलब्ध कराने चाहिए । उनके इस सहयोग से मध्यप्रदेश वासियो से लुटे गए करोड़ो अरबों रुपए की वसूली की जा सकेगी .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here