भाजपा नेता ने कहा – कमलनाथ सरकार अल्पमत में, दे देना चाहिए इस्तीफा

7491

इंदौर।

प्रदेश की सियासी घटनाक्रम के बीच भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का बयान सामने आया है। कैलाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि विधानसभा में कांग्रेस की सरकार अल्पमत में है इसलिए नैतिकता के आधार पर उन सबको इस्तीफा दे देना चाहिए। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का सरकार बनाने में महत्वपूर्ण योगदान था। पार्टी अगर ऐसे बड़े नेता को दरकिनार करती है तो उसे इसका खामियाजा भुगतना ही पड़ेगा।

हॉर्स ट्रेडिंग की शिकायत पर कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि सारी दुनिया जानती है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस के नेता थे। सबसे ज्यादा सभा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस की ओर सब जानते हैं कि सिंधिया जी की सरकार बनाने में सबसे बड़ी भूमिका थी। सिंधिया को कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की जोड़ी ने दूर निकाल कर फेंक दिया।

अगर उसके बाद भी सरकार ठीक काम कर रही होती तो सिंधिया जी कभी कांग्रेस नहीं छोड़ते। उन्होंने कहा कि वादे पूरा करना चाहिए नहीं तो मैं सड़क पर उतर जाऊंगा।हमारे घर का चपरासी भी सम्मान का भूखा होता है। आप इतने बड़े नेता का अपमान करेंगे तो परिणाम वही होगा जैसे सामने आया है।

बता दें कि इससे पहले होली के मौके पर कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेसी नेताओं के जम के मजे लिए थे। जहां उन्होंने कांग्रेसी नेता तथा पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर दोहे के जरिए हमला किया था। गौरतलब हो कि मंगलवार को सबको चौंकाते हुए सिंधिया ने पार्टी से अपना इस्तीफा सोनिया गांधी के नाम लिखा था। जिसके बाद गुरुवार को ज्योतिरादित्य बीजेपी में शामिल हो गए थे। बता दें कि संध्या का समर्थन करते हुए विजयवर्गीय ने यह भी कहा कि सरकार बनाने में सिंधिया का महत्वपूर्ण योगदान था। जहां पर सिंधिया ने सबसे अधिक सभाएं की थी। बावजूद इसके उन्हें पार्टी से दरकिनार कर दिया गया। कांग्रेस को समझना चाहिए कि वो अगर बड़े नेता का अपमान करेंगे तो आज जैसा परिणाम है वैसा ही परिणाम होगा। वैसे भी कमलनाथ सरकार जनता से किए वादे को पूरा नहीं कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here